ताज़ा खबर
 

ज्योतिष के अनुसार जानिए अशुभ ग्रह के प्रभाव से कैसे बचें

राहु और केतु किसी राशि पर डेढ़ साल तक अपना प्रभाव देते हैं। अशुभ राहु-केतु से छुटकारा पाने के लिए मछलियों को आटे की गोलियां खिलानी चाहिए।

Author नई दिल्ली | March 12, 2019 2:46 PM
सांकेतिक तस्वीर।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुंडली के शुभ और अशुभ ग्रह का प्रभाव प्रत्येक व्यक्ति के जीवन पर पड़ता है। ज्योतिष के जानकार यह मानते हैं कि जहां कुंडली का शुभ ग्रह व्यक्ति को सफलता के शिखर पर पहुंचा देता है। वहीं कुंडली के अशुभ ग्रह का प्रभाव से व्यक्ति राजा से रंक तक बन जाता है। कुंडली के अशुभ ग्रह के प्रभाव से कैसे बचें यह ज्योतिष में बताया गया है। ज्योतिष के अनुसार असज हम आपको यह बताते हैं कि कुंडली के अशुभ ग्रह के प्रभाव से कैसे बच सकते हैं।

यदि आपकी कुंडली में कोई ग्रह अशुभ फल देने वाले हैं तो वह अपने वर्तमान स्थिति के अनुसार जब तक उस राशि में रहेगा तब तक आपको परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। अगर किसी जातक की कुंडली में सूर्य अशुभ है तो उसे सूर्य की वर्तमान स्थिति के अनुसार एक माह तक उनका पूजन करना चाहिए। मतलब सुबह उठकर सूर्य को लाल फूल के साथ अर्घ्य देना चाहिए। चंद्रमा किसी राशि वाले के लिए यह ग्रह अशुभ होने पर कुछ समय के लिए ही बुरा फल देते हैं। चंद्रमा को अच्छा करने के लिए पुर्णिमा के दिन जातक को गाय के दूध, चीनी और गंगाजल से अर्घ्य देना चाहिए।

वहीं मंगल एक राशि पर डेढ़ माह तक रहते हैं इसलिए इसका बुरा फल जातक को 45 दिनों तक मिलता रहता है। कुंडली में मंगल की खराब स्थिति को ठीक करने के लिए लाल चीज जैसे मसूर की दाल का दान कर सकते हैं। साथ ही बुध ग्रह एक राशि पर 30 दिनों तक अपना अच्छा या बुरा फल देते हैं। अगर किसी जातक को बुध अच्छा फल नहीं दे रहा है तो गाय को हारा चारा और पालक खिलाना चाहिए। ऐसा करने से अशुभ बुध की दशा ठीक रहती है। एक राशि पर गुरु का प्रभाव 12 महीने तक रहता है। ऐसे में यदि किसी व्यक्ति को गुरु ग्रह से संबंधित परेशानी आ रही है तो जातक को पीले पुखराज तर्जनी अंगुली में धरण करने की सलाह ज्योतिष के जानकारों के द्वारा दी जाती है। साथी ही गाय को गुड़ खिलाने से अशुभ गुरु ठीक हो जाता है।

इसके बाद शुक्र की बात करते हैं, शुक्र ग्रह एक राशि में 27 दिनों तक रहता है। इसका शुभ या अशुभ प्रभाव 27 दिन तक ही रहता है। अशुभ शुक्र को सही करने के लिए जातक को सफेद मीठे और चावल आदि दान करना चाहिए। एक राशि पर शनि के शुभ या अशुभ प्रभाव ढाई साल तक रहता है। साथ ही यदि शनि अशुभ फल दे रहे हैं तो ऐसी स्थिति में जातक को शनिवार के दिन काली उड़द, काली तिल और लोहे की चीजों का दान करना चाहिए। साथ ही शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष में पानी के साथ दूध में चीनी मिलकर अर्पित करना चाहिए। इसके अलावा राहु और केतु किसी राशि पर डेढ़ साल तक अपना प्रभाव देते हैं। अशुभ राहु-केतु से छुटकारा पाने के लिए मछलियों को आटे की गोलियां खिलानी चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App