ताज़ा खबर
 

Panchang 03 August 2020: पंचांग से जानिए राखी बांधने का सबसे शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

भद्रा सुबह 09.28 AM तक रहेगा। इसके बाद बहनें पूरे दिन भाईयों को राखी बांध सकेंगी। राखी बांधने का सबसे शुभ मुहूर्त दोपहर 01.48 PM से 04.29 PM तक रहेगा। दूसरा शुभ मुहूर्त प्रदोष काल में 07.10 PM से 09.17 PM तक रहेगा।

panchang today, aaj ka panchang, raksha bandhan 2020, raksha bandhan time, raksha bandhan muhurat,राहुकाल 07:25 AM से 09:05 AM तक रहेगा। गुलिक काल का समय 02:08 PM से 03:49 PM तक है।

Today Panchang 03 August 2020 (आज का पंचांग): आज श्रावण पूर्णिमा है। इस दिन रक्षा बंधन का त्योहार मनाया जाता है। इसी के साथ आज पांचवां सावन सोमवार व्रत भी है। संस्कृत दिवस और गायत्री जयंती भी आज मनाई जाएगी। रक्षाबंधन का पर्व भाई बहनों के लिए खास माना जाता है। इस दिन बहनें अपने भाईयों की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधकर उनके खुशहाल जीवन की कामना करती हैं। जानिए राखी बांधने का क्या रहेगा शुभ मुहू्र्त, कब खत्म होगा भद्रा और आज पूरा पंचांग…

रक्षा बंधन मुहूर्त: भद्रा सुबह 09.28 AM तक रहेगा। इसके बाद बहनें पूरे दिन भाईयों को राखी बांध सकेंगी। राखी बांधने का सबसे शुभ मुहूर्त दोपहर 01.48 PM से 04.29 PM तक रहेगा। दूसरा शुभ मुहूर्त प्रदोष काल में 07.10 PM से 09.17 PM तक रहेगा। पूर्णिमा तिथि की समाप्ति 09.28 PM पर हो रही है।

आज के शुभ मुहूर्त: अभिजित मुहूर्त 12:00 PM से 12:54 PM तक रहेगा। अमृत काल 09:25 PM से 11:04 PM तक रहेगा। सर्वार्थ सिद्धि योग 07:19 AM से 05:44 AM अगस्त 04 तक है। रवि योग 05.44 AM से 07.19 AM तक रहेगा। विजय मुहूर्त 02:42 PM से 03:35 PM तक रहेगा। गोधूलि मुहूर्त का समय 06:57 PM से 07:21 PM है। सायाह्न सन्ध्या मुहूर्त 07:10 PM से 08:14 PM तक रहेगा।

अशुभ मुहूर्त: राहुकाल 07:25 AM से 09:05 AM तक रहेगा। गुलिक काल का समय 02:08 PM से 03:49 PM तक है। यमगण्ड 10:46 AM से 12:27 PM तक। दुर्मुहूर्त 12:54 PM से 01:48 PM तक फिर 03:35 PM से 04:29 PM तक। वर्ज्य 11:28 AM से 01:07 PM तक, भद्रा 05.44 AM से 09.25 AM तक।

आज की तिथि और नक्षत्र: श्रावण महीना, तिथि पूर्णिमा, नक्षत्र उत्तराषाढा सुबह 07.19 AM तक इसके बाद श्रवण नक्षत्र, योग आयुष्मान्, करण बव, सूर्य राशि कर्क और चंद्र राशि मकर।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 संस्कृत दिवस आज, जानिए इस दिन को मनाने का उद्देश्य और महत्व
2 सावन पूर्णिमा की कथा सुनने से मनोरथ पूर्ण होने की है मान्यता, जानिये व्रत कथा और महत्व
3 साढ़े साती और ढैय्या से निजात पाने के लिए सावन के आखिरी सोमवार करें ये उपाय, शनिदेव के प्रसन्न होने की है मान्यता
IPL 2020 LIVE
X