ताज़ा खबर
 

कई शुभ योगों से भरा है आज का दिन, जानिए राहुकाल का समय

राहुकाल- 01:33 पी एम से 03:10 पी एम, गुलिक काल- 08:41 ए एम से 10:18 ए एम, यमगण्ड- 05:26 ए एम से 07:04 ए एम।

अभिजित मुहूर्त- 11:29 ए एम से 12:21 पी एम, अमृत काल – 07:31 पी एम से 09:07 पी एम, गुरु पुष्य योग- 05:26 ए एम से 01:53 ए एम, मई 01 तक।

आज गंगा सप्तमी (Ganga Saptami) है। माना जाता है कि इस दिन मां गंगा का पुर्नजन्म हुआ था। इस दिन मां भगवान शिव की जटाओं में पहुंची थीं। गंगा सप्तमी के दिन गंगा में स्नान करने का विशेष महत्व होता है। कहा जाता है कि गंगा में स्नान करने से सभी प्रकार के पापों का नाश हो जाता है।

गंगा सप्तमी मुहूर्त (Ganga Saptami Muhurat 2020):

गंगा सप्तमी मध्याह्न मूहूर्त – 10:38 ए एम से 01:13 पी एम
अवधि – 02 घण्टे 36 मिनट्स
सप्तमी तिथि प्रारम्भ – अप्रैल 29, 2020 को 03:12 पी एम बजे
सप्तमी तिथि समाप्त – अप्रैल 30, 2020 को 02:39 पी एम बजे

आज का पंचांग (Panchang 30 April 2020):

सूर्योदय – 05:26 ए एम
सूर्यास्त – 06:24 पी एम
चन्द्रोदय – 11:00 ए एम
चन्द्रास्त – 12:57 ए एम, मई 01
शक सम्वत- 1942 शर्वरी
विक्रम सम्वत- 2077 प्रमाथी
अमांत महीना – वैशाख
पूर्णिमांत महीना – वैशाख
वार- गुरुवार
पक्ष- शुक्ल पक्ष
तिथि – सप्तमी – 02:39 पी एम तक
नक्षत्र – पुष्य – 01:53 ए एम, मई 01 तक
योग – शूल – 08:10 पी एम तक
करण – वणिज – 02:39 पी एम तक
द्वितीय करण – विष्टि – 02:07 ए एम, मई 01 तक
सूर्य राशि – मेष
चन्द्र राशि – कर्क

आज के शुभ मुहूर्त (Aaj Ka Shubh Samay): अभिजित मुहूर्त- 11:29 ए एम से 12:21 पी एम, अमृत काल – 07:31 पी एम से 09:07 पी एम, गुरु पुष्य योग- 05:26 ए एम से 01:53 ए एम, मई 01 तक, सर्वार्थ सिद्धि योग- 05:26 ए एम से 01:53 ए एम, मई 01 तक, अमृत सिद्धि योग- 05:26 ए एम से 01:53 ए एम, मई 01 तक, विजय मुहूर्त – 02:05 पी एम से 02:57 पी एम, गोधूलि मुहूर्त- 06:11 पी एम से 06:35 पी एम, ब्रह्म मुहूर्त- 03:57 ए एम, मई 01 से 04:42 ए एम, मई 01 तक, सायाह्न सन्ध्या – 06:22 पी एम से 07:29 पी एम, निशिता मुहूर्त- 06:24 पी एम से 07:30 पी एम तक, प्रातः सन्ध्या – 04:19 ए एम, मई 01 से 05:26 ए एम, मई 01 तक।

आज के अशुभ मुहूर्त (Today Ashubh Muhurat): राहुकाल- 01:33 पी एम से 03:10 पी एम, गुलिक काल- 08:41 ए एम से 10:18 ए एम, यमगण्ड- 05:26 ए एम से 07:04 ए एम, दुर्मुहूर्त -09:46 ए एम से 10:38 ए एम, दुर्मुहूर्त – 02:57 पी एम से 03:49 पी एम, वर्ज्य – 09:59 ए एम से 11:34 ए एम, भद्रा- 02:39 पी एम से 02:07 ए एम मई 01 तक, गण्ड मूल- 01:53 ए एम, मई 01 से 05:26 ए एम मई 01 तक।

निवास और शूल: होमाहुति- शुक्र, दिशा शूल – दक्षिण, राहु वास- दक्षिण, अग्निवास- आकाश – 02:39 पी एम तक फिर पाताल, भद्रावास – मृत्यु से 02:39 पी एम से 02:07 ए एम, मई 01 तक, चन्द्र वास- उत्तर।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 वृष वाले अपनी सेहत को लेकर रहें सतर्क, जानिए बाकियों के सितारे क्या दे रहे संकेत
2 ज्योतिष आकलन, 21 जून को लगने वाला सूर्य ग्रहण होगा बेहद संवेदनशील
3 सीता नवमी 2020: धरती से जन्मी थीं मां सीता और अंत में इसी में हो गईं थीं समाहित