ताज़ा खबर
 

आज का पंचांग (Aaj Ka Panchang) 04 April 2020: आज है कामदा एकादशी, जानिए कब से कब तक रहेगा शुभ रवि योग और क्या है राहुकाल का टाइम

Panchang 04 April 2020 In Hindi: अभिजित मुहूर्त- 11:36 ए एम से 12:26 पी एम, अमृत काल - 03:39 पी एम से 05:09 पी एम, रवि योग - 05:50 ए एम से 05:09 पी एम, विजय मुहूर्त - 02:05 पी एम से 02:54 पी एम।

Panchang 04 April 2020: राहुकाल- 08:55 ए एम से 10:28 ए एम, गुलिक काल- 05:50 ए एम से 07:23 ए एम, यमगण्ड- 01:34 पी एम से 03:07 पी एम।

Panchang 04 April 2020, Aaj Ka Panchang (Today Panchang): आज कामदा एकादशी है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। माना जाता है कि इस व्रत को करने से राक्षस योनि से छुटकारा मिल जाता है। ये एकादशी हर साल चैत्र शुक्ल एकादशी को आती है। मान्यता है कि इस दिन विधि विधान व्रत रखने और पूजा रखने से बैकुंठ धाम की प्राप्ति होती है। आज शुभ रवि योग भी बन रहा है। एकादशी तिथि का प्रारंभ 04 अप्रैल को 12:58 AM बजे से होगा और इसकी समाप्ति 04 अप्रैल को ही 10:30 PM पर होगी।

आज का पंचांग (Panchang 04 April 2020):

सूर्योदय – 05:50 ए एम
सूर्यास्त – 06:12 पी एम
चन्द्रोदय – 02:15 पी एम
चन्द्रास्त – 03:50 ए एम, अप्रैल 05
शक सम्वत- 1942 शर्वरी
विक्रम सम्वत- 2077 प्रमाथी
अमांत महीना – चैत्र
पूर्णिमांत महीना – चैत्र
वार- शनिवार
पक्ष- शुक्ल पक्ष
तिथि – एकादशी – 10:30 पी एम तक
नक्षत्र – अश्लेशा – 05:09 पी एम तक
योग – धृति – 10:21 ए एम तक
करण – वणिज – 11:49 ए एम तक
द्वितीय करण – विष्टि – 10:30 पी एम तक
सूर्य राशि – मीन
चन्द्र राशि – कर्क – 05:09 पी एम तक

आज के शुभ मुहूर्त (Aaj Ka Shubh Samay):

अभिजित मुहूर्त- 11:36 ए एम से 12:26 पी एम, अमृत काल – 03:39 पी एम से 05:09 पी एम, रवि योग – 05:50 ए एम से 05:09 पी एम, विजय मुहूर्त – 02:05 पी एम से 02:54 पी एम, गोधूलि मुहूर्त- 06:00 पी एम से 06:24 पी एम, ब्रह्म मुहूर्त- 04:16 ए एम, अप्रैल 05 से 05:02 ए एम, अप्रैल 05 तक, सायाह्न सन्ध्या – 06:12 पी एम से 07:22 पी एम, निशिता मुहूर्त- 11:38 पी एम से 12:24 ए एम, अप्रैल 03 तक, प्रातः सन्ध्या – 04:39 ए एम, अप्रैल 05 से 05:49 ए एम, अप्रैल 05।

आज के अशुभ मुहूर्त (Today Ashubh Muhurat): राहुकाल- 08:55 ए एम से 10:28 ए एम, गुलिक काल- 05:50 ए एम से 07:23 ए एम, यमगण्ड- 01:34 पी एम से 03:07 पी एम, दुर्मुहूर्त -05:50 ए एम से 06:39 ए एम, दुर्मुहूर्त – 06:39 ए एम से 07:29 ए एम, वर्ज्य – 06:40 ए एम से 08:10 ए एम, वर्ज्य – 04:03 ए एम, अप्रैल 05 से 05:30 ए एम, अप्रैल 05 तक, भद्रा – 11:49 ए एम से 10:30 पी एम।

निवास और शूल: होमाहुति- शनि, दिशा शूल – पूर्व, राहु वास- पूर्व, भद्रावास – मृत्यु से 11:49 ए एम से 10:30 पी एम, अग्निवास- पृथ्वी, चन्द्र वास – उत्तर – 05:09 पी एम तक फिर पूर्व से 05:09 पी एम से पूर्ण रात्रि।

Next Stories
1 Chaitra Purnima 2020: चैत्र पूर्णिमा कब है? इस दिन दान पुण्य के किये जाते हैं काम, जानिए लाभ
2 Kamada Ekadashi 2020: 04 अप्रैल को रखा जायेगा कामदा एकादशी व्रत, जानिए पूजा विधि, व्रत कथा और मुहूर्त
3 हनुमान जयंती 2020 कब? कोरोना वायरस के चलते इस बार घर पर ही करें हनुमान जी की पूजा
ये पढ़ा क्या?
X