ताज़ा खबर
 

स्वच्छ सर्वेक्षण 2017 में उत्तर प्रदेश की खराब रेटिंग के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने खुद लगाई सड़कों पर झाड़ू

स्वच्छ सर्वेक्षण 2017 के नतीजों में उत्तर प्रदेश से सिर्फ वाराणसी ही एेसा शहर है, जो देश के टॉप 100 स्वच्छ शहरों की सूची में शामिल हैं। 15 सबसे गंदे जिलों में से 9 यूपी से हैं।
मंत्रियों सहित राजधानी की सड़कों पर झाड़ू लगाते सीएम योगी आदित्यनाथ। (फोटो-एएनआई)

स्वच्छ भारत सर्वे में उत्तर प्रदेश का खराब प्रदर्शन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को नागवार गुजरा। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक शनिवार सुबह मुख्यमंत्री योगी लखनऊ खुद की लखनऊ की सड़कों पर झाड़ू लेकर सफाई करने उतर पड़े। उनके साथ राज्य के अन्य मंत्री भी शामिल थे। स्वच्छता अभियान के तहत सीएम एवं अन्य मंत्री ने राजधानी के बालू अड्डा मलिन बस्ती में आज सुबह सफाई की। योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का आदेश दिया है कि बारिश के मौसम से पहले सभी नालों की सफाई की जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी काउंसिलर्स यह सुनिश्चित करें कि उनके वार्ड की हर दिन सफाई हो और परिणाम 15 दिनों में दिखाई देना चाहिए।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2017 के नतीजों में उत्तर प्रदेश से सिर्फ वाराणसी ही एेसा शहर है, जो देश के टॉप 100 स्वच्छ शहरों की सूची में शामिल हैं। 15 सबसे गंदे जिलों में से 9 यूपी से हैं। शुक्रवार को सर्वे में खराब रेटिंग आने के बाद योगी आदित्यनाथ ने इस पर चिंता जताई थी। उन्होंने कहा, हालांकि यह सर्वेक्षण हमारे सत्ता में आने से पहले हुआ था, लेकिन हमारी सरकार ने फैसला किया है कि वह इस क्षेत्र में काम करेगी और दिसंबर तक 30 जिलों को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया जाएगा और अगले साल अक्टूबर तक पूरे राज्य को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया जाएगा।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2017 में वाराणसी को 32वां स्थान मिला है। साल 2014 में काशी 418वें पायदान पर था।  (ये लिस्ट 2015 में जारी की गई थी)। पीएम नरेंद्र मोदी ने इसी शहर से नवंबर 2014 में स्वच्छ भारत मिशन की शुरुआत की थी। शहर में 3000 हजार कूड़ेदान और 8,540 टॉयलेट्स बनवाए गए थे, ताकि शहर को खुले में शौच से मुक्त कराया जा सके। मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने राज्य के सभी अधिकारियों को स्वच्छता की शपथ दिलाई थी और उन्हें अपना कार्यालय साफ रखने का आदेश दिया था। उन्होंने यह भी कहा था कि केंद्र सरकार का स्वच्छ भारत अभियान पूरे उत्तर प्रदेश में बड़े स्तर पर लागू किया जाएगा। उन्होंने अधइकारियों को अॉफिस में प्लास्टिक उपयोग न करने और तंबाकू नहीं चबाने के आदेश दिए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.