ताज़ा खबर
 

स्कूल में हमले में घायल 6 साल के बच्चे से मिले सीएम योगी आदित्यनाथ, प्रिंसिपल गिरफ्तार

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार ने बताया कि इस घटना को छुपाने और गैर जिम्मेदाराना रवैया अपनाने के आरोप में स्कूल के प्रधानाचार्य रचित मानस को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया गया।

Author लखनऊ | January 18, 2018 4:44 PM
छह वर्षीय छात्र से ट्रॉमा सेंटर जाकर मिलते योगी आदित्यनाथ। (ANI Pic)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजधानी लखनऊ के एक स्कूल में कथित रूप से एक छात्रा के हमले का शिकार हुए छह वर्षीय छात्र का ट्रॉमा सेंटर जाकर हालचाल लिया। इस मामले में स्कूल के प्रधानाचार्य को गिरफ्तार कर लिया गया है। योगी दोपहर बाद किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के ट्रॉमा सेंटर पहुंचे और घायल छात्र रितिक का कुशलक्षेम पूछा। इस दौरान उन्होंने चिकित्सकों को जख्मी छात्र के समुचित इलाज की हिदायत भी दी। छात्र की हालत खतरे से बाहर बताई जाती है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार ने मुख्यमंत्री को मामले की जांच की प्रगति के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस घटना को छुपाने और गैर जिम्मेदाराना रवैया अपनाने के आरोप में स्कूल के प्रधानाचार्य रचित मानस को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया गया।

कुमार ने बताया कि घटना में इस्तेमाल चाकू बरामद कर लिया गया है। वारदात को अंजाम देने की आरोपी 11 साल की छात्रा को किशोर न्याय बोर्ड के सामने पेश किया जाएगा। घायल छात्र की मुट्ठी से मिले बालों को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है। मालूम हो कि राजधानी के अलीगंज थाना क्षेत्रा के घटना त्रिवेणी नगर स्थित ब्राइटलैंड स्कूल के शौचालय में मंगलवार सुबह पहली कक्षा के छात्र रितिक पर शौचालय में किसी धारदार चीज से कथित रूप से हमला किया गया था। एक छात्रा पर इस वारदात को अंजाम देने का आरोप लग रहा है।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64GB Blue
    ₹ 15399 MRP ₹ 16999 -9%
    ₹0 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 13989 MRP ₹ 16999 -18%
    ₹2000 Cashback

रितिक के पिता राजेश के मुताबिक, उन्हें स्कूल द्वारा सूचित किया गया कि उनका बेटा घायल है। उस पर किसी लडकी ने चाकू से हमला किया है। राजेश उच्च न्यायालय में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हैं। इस घटना ने पिछले साल गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में शौचालय में ही एक छात्र की हत्या की याद ताजा करा दी। उस वारदात में भी एक छात्र पर ही हत्या का आरोप लगा है।

इस बीच, प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि ऐसी वारदात से बचने के लिये बच्चों की काउंसिलिंग की आवश्यकता पड़ती है। हमें बेसिक शिक्षा में काउसिलिंग को और अधिक शामिल करना होगा। उन्होंने कहा कि अभिभावक तथा अध्यापक समन्वय को और मजबूत करना होगा। काउंसिलिंग को शिक्षा के पाठ्यक्रम में कैसे लाना है, इस पर अध्ययन हो रहा है। ब्राइटलैंड स्कूल के मामले में सरकार ने कानूनी कार्रवाई की। साथ ही पीड़ित छात्र को जरूरी चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App