ताज़ा खबर
 

हरियाणा: जाट नेता ने कहा- अगले चुनाव में करेंगे खट्टर का बायकॉट, लोग जुटे तो साफ हो जाएगी बीजेपी

जाट महासभा को देखते हुए पूरे इलाके में सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए गए हैं। एसपी जशनदीप ने जानकारी दी कि इस महासभा को ध्यान में रखते हुए बाहर के जिलों से भी पुलिसकर्मी बुलाए गए हैं और चप्पे-चप्पे में तैनाती की गई है।

AIJASS के नेता यशपाल मलिक (फोटो सोर्स- एएनआई ट्विटर)

अखिल भारतीय जाट यात्रा संघ समिति के नेता यशपाल मलिक ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार को चेतावनी दी है। यशपाल ने शनिवार को कहा है कि उन्होंने जाट आरक्षण से संबंधित एक प्रस्ताव पास कर दिया है और अगर उनकी मांगें पूरी नहीं की जाएंगी तो वह अगले चुनाव में खट्टर का बहिष्कार करेंगे। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक यशपाल ने कहा, ‘हमने एक प्रस्ताव पास किया है। अगर हमारी मांगें 15 अगस्त तक पूरी नहीं की जाएंगी, तो हम उसी जगह पर विरोध प्रदर्शन करेंगे जहां सीएम खट्टर और उनके मंत्री रैलियां निकालेंगे। हम सरकार को काम नहीं करने देंगे।’

रोहतक में यशपाल ने आगे कहा, ‘हम अगले चुनाव में उनका बहिष्कार करेंगे और दूसरे अन्य राज्य जहां चुनाव होने वाले हैं, वहां भी यही संदेश फैलाएंगे। जैसे कैराना और नूरपुर में में हिंदू-मुस्लिम ने एकसाथ आकर बीजेपी को हराया है, वैसे ही अगर जाट और गैर-जाट लोग एकसाथ आ जाएंगे तो बीजेपी हर जगह से पूरी तरह से साफ हो जाएगी।’ बता दें कि शनिवार को रोहतक के जसिया में जाट महासाभा बुलाई गई है। इसी सभा में यशपाल मलिक ने यह बात कही है।

जाट महासभा को देखते हुए पूरे इलाके में सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए गए हैं। एसपी जशनदीप ने जानकारी दी कि इस महासभा को ध्यान में रखते हुए बाहर के जिलों से भी पुलिसकर्मी बुलाए गए हैं और चप्पे-चप्पे में तैनाती की गई है। इससे पहले मार्च महीने में दिल्ली में जाट आंदोलन किया जाना था, लेकिन जाट समुदाय के नेताओं और हरियाणा सरकार के बीच हुई बैठक के बाद जाट समुदाय के लोगों ने दिल्ली में प्रस्तावित आंदोलन वापस ले लिया था। मार्च में करीब चार घंटों तक मनोहर लाल खट्टर और केंद्र सरकार के दो जाट मंत्री बीरेंद्र सिंह और पीपी चौधरी के साथ जाट नेताओं की बैठक हुई थी, इसके बाद दिल्ली में होने वाला आंदोलन रद्द कर दिया गया था। मीटिंग के बाद यशपाल मलिक ने कहा था, ‘जाट अब दिल्ली नहीं आ रहे हैं। हमने अपना यह कार्यक्रम रद्द कर दिया है। राज्य सरकार हमारी मांगें मान रही है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App