ताज़ा खबर
 

यमुना एक्सप्रेस-वे हादसाः सुरक्षित बचे परिवार ने बताया दर्दनाक मंजर, कहा- यूं किस्मत से बची जान

घायल निहाल के पिता सुधीर ने बताया, 'सबसे पहले मैनें देखा कि मेरा बेटा सही-सलामत है या नहीं। हम भाग्यशाली थे कि हम इस भयानक हादसे में बच गए।'

Author March 30, 2019 1:16 PM
यमुना एक्सप्रेस-वे पर हुआ बड़ा हादसा फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

यमुना एक्सप्रेस-वे पर गुरुवार (28 मार्च) को भीषण हादसे की शिकार हुई बस में मौजूद एक शख्स ने आपबीती बताई है। कुठौंद से दिल्ली के लिए रवाना हुई बस कुछ घंटों बाद ही हादसे की शिकार हो गई। हादसे में घायल 14 साल के निहाल ने बताया कि सुबह के वक्त लगभग 5 बजे वह गहरी नींद में था और अपने माता-पिता के बगल में एक स्लीपर कैबिन में सो रहा था। थोड़ी देर बाद जब उसकी आंख खुली तो उसने देखा कि उसकी बस अचानक से किसी चीज से टकराई। एक पल के लिए उसे लगा मानो भूकंप आया हो। हादसे के बाद आस-पास के लोगों घायलों को जेवर के कैलाश अस्पताल में भर्ती करवाया।

हम भाग्यशाली थे इसलिए बच गएः हादसे में घायल निहाल के पिता सुधीर ने बताया, ‘सबसे पहले मैंने देखा कि मेरा बेटा सही-सलामत है या नहीं। हम भाग्यशाली थे कि हम इस भयानक हादसे में बच गए। सामने खून बिखरा हुआ था। बाद में हमें पता चला कि शवों को बरामद करने के लिए बस को सामने से काटा गया।’ सुधीर नोएडा की लखानी फैक्ट्री में काम करते हैं।

National Hindi News Today LIVE: जानें दिनभर की अपडेट्स

बस टिकटों पर थी भारी छूटः होली के त्योहार के चलते बस टिकटों पर भारी छूट दी गई थी। इस बस ने जिससे निहाल और उसका परिवार सफर कर रहा था बच्चों के लिए मुफ्त टिकट का ऑफर दिया था।

 

पूछती रही पति की खैरियतः हादसे में घायल महिला सुमन ने सांस लेने में तकलीफ के चलते ऑक्सीजन मॉस्क लगाया हुआ था। लेकिन इस दौरान वह लगातार अपने पति मंगल के बारे में पूछती रही, उन्हें आईसीयू में भर्ती किया गया था। महिला ने बताया, ‘हम शहर से काम करके वापस लौट रहे थे तब यह हादसा हुआ। मुझे उम्मीद है कि हम जल्द ही यहां से बाहर होंगे।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App