ताज़ा खबर
 

उन्‍नाव गैंगरेप: लेखिका ने यूपी सीएम योगी आदित्‍यनाथ को भिजवाईं चूड़‍ियां, ट्वीट किया तो खुद घिर गईं

उन्‍नाव दुष्‍कर्म कांड को लेकर उत्‍तर प्रदेश के साथ ही देशभर में गुस्‍सा है। जघन्‍य वारदात और सरकार के रवैये के खिलाफ एक लेखिका ने उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ को चूड़ि‍यां भेजी हैं। इस मामले में सत्‍तारूढ़ भाजपा के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर आरोप लगे हैं।

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ। (फाइल फोटो)

उन्‍नाव गैंगरेप मामले को लेकर उत्‍तर प्रदेश की योगी आदित्‍यनाथ सरकार विवादों में हैं। विपक्षी दलों के साथ पार्टी के अंदर से भी आवाजें उठने लगी हैं। अब एक लेखिका ने सीएम योगी को चूड़ि‍यां भिजवाई हैं। लेखिका साध्‍वी खोसला ने ट्वीट किया, ‘उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के लिए उपहार के तौर पर चूड़ि‍यां! मैं इसे कूरियर के जरिये लखनऊ स्थित मुख्‍यमंत्री कार्यालय को भी भिजवा रही हूं।’ लेकिन, इस ट्वीट के साथ ही वह खुद घिर गईं। रोहिणी सिंह ने ट्वीट किया, ‘लेकिन चूड़ि‍यां क्‍यों? चूड़ि‍यां पहनना कमजोरी की निशानी कैसे है?’ अशोक ने लिखा, ‘इसके बजाय कृपा करके उनको गाय का गोबर भिजवाएं।’ पॉली सरकार ने ट्वीट किया, ‘वह इसके काबिल नहीं हैं। चूड़ि‍यों वाले हाथ ज्‍यादा नैतिक होते हैं और उनमें ज्‍यादा शक्ति भी होती है।’ शशांक ने लिखा, ‘तो आप सोचती हैं कि महिलाओं द्वारा पहनी जानेवाली चूड़ि‍यां कमजोरी की निशानी है? और महिला सशक्‍तीकरण की बात करती हैं?’ रूही मिश्रा ने ट्वीट किया, ‘मोदी भी भिजवा दीजिए।’ गौरव कपूर ने लिखा, ‘मैं आपसे आग्रह करना चाहूंगा कि आप कुछ टूटी हुई चूड़ि‍यां भी भिजवा दीजिए। उत्‍तर प्रदेश में कैसी शर्मसार करने वाली सरकार के साथ रहना पड़ रहा है।’

उन्‍नाव के माखी गांव निवासी एक महिला ने उत्‍तर प्रदेश में सत्‍तारूढ़ भाजपा के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर दुष्‍कर्म का आरोप लगाया है। इस मामले में पुलिस द्वारा समय रहते कार्रवाई नहीं करने के कारण योगी सरकार पर गंभीर आरोप लगाए गए हैं। इस घटना के सामने आने के बाद जेल में बंद पीड़ि‍ता के पिता की पिटाई के कारण मौत हो गई थी। इसके उपरांत इस मामले ने और तूल पकड़ लिया। दबाव बढ़ने पर राज्‍य सरकार ने मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी। विशेष जांच दल के सदस्‍यों ने जब माखी गांव का दौरा किया तो विधायक सेंगर के समर्थकों ने इसके विरोध में प्रदर्शन किया और उलटे पीड़ि‍ता पर ही आपत्तिजनक आरोप लगाए। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने मामले पर स्वत: संज्ञान लेते हुए सुनवाई भी शुरू कर दी है। वहीं, सुप्रीम कोर्ट में भी इसको लेकर याचिका दायर की गई है, जिसे सुनवाई के लिए स्‍वीकार कर लिया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 FIR की कॉपी: 16 साल की लड़की को करीबी महिला ले गई थी विधायक सेंगर के पास, फिर हुआ रेप
2 मुंबई: पुलिस ने मारा छापा, भागीं तो तीसरी मंजिल से गिरकर ‘सेक्स वर्कर्स’ की मौत
3 उन्नाव गैंगरेप की CBI जांच: पीड़िता की मांग- चाचा को खतरा, आरोपी को पकड़ो
यह पढ़ा क्या?
X