ताज़ा खबर
 

खाने की गाड़ी चलाने वाली इस महिला के कारोबार में निवेश करना चाहते हैं अरबपति महिंद्रा

महिला की कहानी से आनंद महिंद्रा इतने भाव विभोर हैं कि उसके कारोबार में निवेश करने के लिए उतावले हो रहे हैं।

महिंद्रा ग्रुप के सीईओ आनंद महिंद्रा (फाइल फोटो)

एक फूड ट्रक (खाने की गाड़ी) चलाने वाली महिला की कहानी ने सोशल मीडिया पर इतनी तारीफ बटोरी कि उसने महिंद्रा ग्रुप के सीईओ अरब पति आनंद महिंद्रा का ध्यान खींच लिया। महिला की कहानी से आनंद महिंद्रा इतने भाव विभोर हैं कि उसके कारोबार में निवेश करने के लिए उतावले हो रहे हैं। उन्होंने ट्वीट कर यहां तक कहा कि वह जानते हैं कि महिला कारोबारी को किसी तरह की मदद की जरूरत नहीं होगी, फिर भी अगर उनका कारोबार बढ़ाने का प्लान हैं तो उसमें निवेश करना चाहूंगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 34 वर्षीय शिल्पा मैंगलोर में खाने की गाड़ी चलाती हैं। उन्होंने महिंद्रा की बोलेरो गाड़ी को फूड ट्रक में तब्दील करवाया है। इस गाड़ी से वह लजीज कन्नड़ भोजन परोसती हैं। उनके खाने के स्वाद ने लोगों को आदि बना दिया है और वे खाने की तरीफ करते नहीं थकते हैं। उन्हीं में से कुछ प्रशंसकों ने उनकी स्टोरी सोशल मीडिया पर शेयर की।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64GB Blue
    ₹ 15399 MRP ₹ 16999 -9%
    ₹0 Cashback
  • Sony Xperia L2 32 GB (Gold)
    ₹ 14850 MRP ₹ 20990 -29%
    ₹0 Cashback

शिल्पा के खाने की गाड़ी की तारीफ जब ट्विटर पर हुई तो उस पर आनंद महिंद्रा की भी नजर पड़ गई और बिना देर किए उन्होंने तुरंत महिला करोबारी को अपना प्रस्ताव पेश कर दिया। शिल्पा के लिए यह सपने सरीखा है। जिन लोगों ने महिंद्रा का ट्वीट पड़ा उन्होंने उनके इस स्वभाव को सराहा। लोगों ने ढेरों ट्वीट कर उनकी इस पहल का स्वागत किया।

आनंद महिंद्रा ने ट्वीट में लिखा- सप्ताह खत्म होने साथ ही उद्यमिता की एक शानदार कहानी पढ़ी। हम इसे आगे बढ़ने की कहानी कह सकते हैं। मैं बहुत खुश हूं कि इस कहानी में बोलेरो का भी छोटा रोल है। क्या कोई उनके पास जाकर बता सकता है कि अगर वह दूसरी गाड़ी चलाने की सोच रही हैं तो मैं व्यक्तिगत रूप से उनके कारोबार में एक और बोलेरो देकर निवेश करना चाहूंगा।

एक और ट्वीट में उन्होंने लिखा- मुझे नहीं लगता कि उन्हें मेरी चैरिटी की जरूरत है। वह एक कामयाब उद्यमी हैं। मैं उनके कारोबार के विस्तार में निवेश करने का प्रस्ताव दे रहा हूं।

इसके बाद लोगों ने उनके स्वागत में प्रतिक्रियाओं की झड़ी लगा दी। दुष्यंत नाम के यूजर ने लिखा कि यह प्रेरणाप्रद कहानी है और महिंद्रा के सीईओ का इस तरह स्पॉट डिसीजन लेना… वाकई राइज स्टोरी है। कर्नल एसके पाढ़ी ने लिखा ऐसी कहानी भारत में ही हो सकती है जहां मदद करने के लिए हाथ कोई और नहीं, बल्कि महिंद्रा के सीईओ बढ़ाते हैं। समीरा नाम की यूजर ने लिखा कि मैं आपके साहस बढ़ाने के तरीके से इंप्रेस तो हूं ही, साथ ही इस उद्यमिता से और प्रतिस्पर्धा को महौल में महिलाएं के कारोबार में आगे आने से भी हूं। …और भी कई लोगों ने ट्वीट कर शिल्पा के काम को सराहा तो आनंद मंहिद्रा के प्रस्ताव का भी जमकर स्वागत किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App