ताज़ा खबर
 

महिला ने सेक्स रैकेट का हिस्सा बनने से किया इनकार, ससुराल वालों ने जलाकर मार डाला

पश्चिम बंगाल के पश्चिमी मिदनापुर जिले में एक महिला को उसकी सास सेक्‍स रैकेट में शामिल होने के लिए मजबूर कर रही थी। मामला ज्‍यादा बढ़ने पर महिला के पति, ससुर और सास ने किरोसीन तेल उड़ेल कर उसे जिंदा जला दिया।

पश्चिम बंगाल में एक महिला को जिंदा जला दिया गया। (प्रतीकात्‍मक फोटो)

पश्चिम बंगाल में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। एक महिला द्वारा सेक्‍स रैकेट का हिस्‍सा बनने से इनकार करने पर ससुराल वालों ने उसे जिंदा जलाकर मार डाला। यह वाकया पश्चिमी मिदनापुर जिले का है। पीड़िता की सास ही इसे सेक्‍स रैकेट चलाती थी। महिला के पति को भी इस बात की जानकारी थी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, महिला की सिर्फ छह महीने पहले ही जिले के पोरालदा गांव निवासी बिश्‍वजीत गिरी से शादी हुई थी। शुरुआत में सबकुछ ठीक-ठाक चल रहा था। दो महीने के अंदर ही उसकी सास उसे पराए पुरुषों के साथ शारीरिक संबंध बनाने के लिए मजबूर करने लगी थी। महिला ने इसका हिस्‍सा बनने से इनकार कर दिया था। उसका पति इस पूरे मामले पर कुछ नहीं बोलता था। महिला के लगातार विरोध के कारण 12 मार्च को हालात विस्‍फोटक हो गए थे। पीड़िता की सास, ससुर और पति ने उस पर किरोसीन तेल डाल कर आग लगा दी थी। महिला की चीख-पुकार सुनने के बाद पड़ोसी जबरन बिश्‍वजीत के घर में घुस कर महिला को बचाने के प्रयास किया था। हालांकि, तब तक वह तकरीबन 80 फीसद तक जल चुकी थी। उसे ए‍क स्‍थानीय अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था, जहां से गंभीर हालत में उन्‍हें मिदनापुर मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया था, लेकिन बुरी तरह से जलने के कारण डॉक्‍टर उन्‍हें बचा नहीं सके। इस घटना के बाद से पीड़िता का पूरा परिवार फरार है। पुलिस उनकी तलाश में जुटी है।

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्‍यूरो की रिपोर्ट के अनुसार, भारत में महिलाओं के खिलाफ अपराध की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। खासकर बलात्‍कार की घटनाओं में अन्‍य अपराधों की तुलना में सबसे ज्‍यादा वृद्धि हुई है। एनसीआरबी की ओर से जारी आंकड़ों में महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध में तीन फीसद की वृद्धि देखी गई। बलात्‍कार के मामलों में 12 प्रतिशत की बढ़ोतरी पाई गई। महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों के 32.6 फीसद मामलों में महिला के पति या अन्‍य रिश्‍तेदारों की संलिप्‍तता सामने आई थी। इसके अलावा महिलाओं के सम्‍मान को तार-तार करने से जुड़े 25 फीसद मामले सामने आए थे। वहीं, तकरीबन 19 फीसद आपराधिक मामले महिलाओं के अपहरण से जुड़े थे। पति द्वारा क्रूरता से जुड़े सबसे ज्‍यादा मामले (19,302) पश्चिम बंगाल में सामने आए थे। दूसरे और तीसरे पायदान पर क्रमश: राजस्‍थान और उत्‍तर प्रदेश का नाम था। बलात्‍कार के सबसे ज्‍यादा मामले मध्‍य प्रदेश, राजस्‍थान और महाराष्‍ट्र में सामने आए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App