पांच बच्चों की मां के साथ 17 लोगों ने किया गैंगरेप, पति को भी बनाया बंधक, पुलिस बोली बार-बार बदला जा रहा बयान

महिला के पति ने घटना का जिक्र करते हुए बयान में कहा कि आरोपियों ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी और मौके से फरार हो गए।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र रांची | Updated: December 10, 2020 9:28 AM
Crime, Women Molestationपुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। (प्रतीकात्मक फोटो)

झारखंड के दुमका जिले के मुफ्फसिल थाना क्षेत्र में पड़ने वाले एक गांव से महिला के गैंगरेप का एक डरावना मामला सामने आ रहा है। बताया गया है कि यहां मंगलवार रात को पांच बच्चों की मां से 17 लोगों ने गैंगरेप किया। महिला (35) अपने पति के साथ बाजार से वापस घर आ रही थी और इसी दौरान आरोपियों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। आरोपियों ने महिला के पति को बंधक बना लिया था।

पीड़िता के बयान के आधार पर बुधवार को 17 लोगों पर एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी गई। घटना की सूचना के बाद डीआईजी सुदर्शन कुमार मंडल और एसपी अंबर लकड़ा थाना पहुंचे और मामले की जांच की। पीड़िता के पति ने बताया कि गांव में हर मंगलवार को बाजार लगता है। वह पत्नी के साथ करीब आठ बजे बाजार से घर लौट रहा था। रास्ते में नशे में धुत करीब 17 लड़के खड़े थे। पांच लड़कों ने उसे और दो ने पत्नी को पकड़ लिया। बाकी लड़के पत्नी को उठाकर झाड़ियों की ओर ले गए। दुष्कर्म के बाद आरोपियों ने दंपति को जान से मारने की धमकी दी और मौके से फरार हो गए।

महिला ने अपने बयान में एक व्यक्ति की पहचान की। इस घटना के बाद पुलिस की टीमों ने आरोपियों की तलाश में छापेमारी की और नामजद आरोपी को हिरासत में लिया। पुलिस का कहना है कि दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। हालांकि, एसपी ने कहा कि महिला के बयान लगातार बदलते रहे हैं। पूछताछ के दौरान पहले महिला ने कहा कि अपराध में पांच लोग शामिल थे। फिलहाल पुलिस को उसकी मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार है।

भाजपा ने कांग्रेस पर साधा निशाना: भाजपा प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने दुमका गैंगरेप की घटना पर कहा कि इसे जंगलराज नहीं कहेंगे तब क्या कहेंगे। बहू-बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। उनकी इज्जत लगातार लूटी जा रही है। दरिंदगी की सारी हदें पार हो रही हैं। ऐसे वहशी दरिंदों के मन से कानून का खौफ निकल रहा है। क्यों। इसके लिए कौन जिम्मेदार है। BJP प्रवक्ता ने कहा कि हेमंत सोरेन सरकार में बेटियां सुरक्षित नहीं है। इन वहशी दरिंदों की तुरंत गिरफ्तारी हो। फास्ट ट्रैक कोर्ट से अधिकतम सजा दिलाई जाए।

Next Stories
1 असम में 2019 में जारी की गई NRC लिस्ट फाइनल नहीं, हाई कोर्ट को बताया 4,700 नामों में है गड़बड़ी
2 ‘इमरान हाशमी और सनी लियोनी मेरे माता-पिता’, बिहार के छात्र ने कॉलेज के फॉर्म में दी जानकारी
3 वीडियो: नीतीश राज में अपराधी बेलगाम! दिनदहाड़े बंदूक की नोक पर लूटा 14 किलो सोना
यह पढ़ा क्या?
X