ताज़ा खबर
 

उज्ज्वला योजना की आठ करोड़वी लाभार्थी को मिला गैस कनेक्शन, बोलीं- यह जश्न का मौका, सबसे पहले बनाऊंगी बिरयानी

उज्ज्वला योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों की महिलाओं को एलपीजी कनेक्शन मिलता है। आठ करोड़वीं लाभार्थी आयशा शेख के लिए नया गैस कनेक्शन मिलना किसी जश्न से कम नहीं है

Author मुंबई | Updated: September 9, 2019 1:16 PM
उज्ज्वला योजना के तहत आठ करोड़वीं लाभार्थी आयशा शेख फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

घरेलू गैस से खाना पकाना भले की कई लोगों के लिए बड़ी बात नहीं हो लेकिन महाराष्ट्र में उज्ज्वला योजना की आठ करोड़वीं लाभार्थी आयशा शेख के लिए नया गैस कनेक्शन मिलना किसी जश्न से कम नहीं है और ऐसे में उसके लिए ‘बिरयानी’ से कम क्या विकल्प हो सकता है। अजंता गांव में पांच बच्चों की मां इस दिहाड़ी मजदूर के लिए खाना पकाने के लिए आसपास की जगहों से सूखी लकड़ियां जुटाना अब बीते दिनों की बात हो गई है।

गरीब परिवारों को मिला एलपीजी कनेक्शनः मराठवाड़ा क्षेत्र के औरंगाबाद जिले की आयशा शेख महत्वाकांक्षी प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की आठ करोड़वीं लाभार्थी बनीं हैं। योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों की महिलाओं को एलपीजी कनेक्शन मिलता है।शनिवार को शेख को औरंगाबाद में एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उज्ज्वला योजना प्रमाणपत्र सौंपा।
National Hindi News, 9 September 2019 LIVE News Updates: देश-दुनिया की तमाम अहम खबरों के लिए क्लिक करें

खाना पकाने के लिए लकड़ियों पर रहना पड़ता था निर्भरः मोदी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं की बैठक ‘महिला सक्षम मेलवा’ को संबोधित करने और 10000 एकड़ क्षेत्र में फैले औरंगाबाद औद्योगिक शहर उद्घाटन करने के लिए शहर में थे। यह देश का पहला हरित औद्योगिक स्मार्ट सिटी है।प्रमाणपत्र मिलने के बाद आयशा ने कहा, ‘‘सिलेंडर और स्टोव मिलने के बाद पहली बात, मैं जो करूंगी वह है –बिरयानी पकाऊंगी। मैं खुश हूं क्योंकि इस नए कनेक्शन से मेरी मेहनत बच जाएगी।’’ उसने कहा कि वह खाना पकाने के लिए लकड़ियों पर निर्भर थी जो बहुत मेहनत वाला रोजमर्रा का काम है और उसमें बहुत वक्त लग जाता है।
Weather Forecast Today Live Latest News Updates: पढ़ें देशभर के मौसम का हाल

आठ करोड़ लोगों को मिली सुविधाः आयशा ने कहा, ‘‘ मुझे आसपास की जगहों से सूखी लकड़ियां लानी होती थीं जो बड़ा श्रमसाध्य था। अब मुझे राहत होगी क्योंकि मैं कम वक्त में खाना बना सकती हूं। ’’ शनिवार (7 सितंबर) को सरकार ने निर्धारित समय-सीमा से करीब सात महीने पहले आठ करोड़ गरीबों को मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन देने के लक्ष्य को हासिल कर लिया। यह योजना एक मई, 2016 को शुरू की गयी थी। पहले मार्च, 2019 तक पांच करोड़ देने का लक्ष्य रखा गया था, जिसे बढ़ाकर 2020 तक आठ करोड़ कर दिया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Himachal: कुल्लू में 300 साल पुराना मंदिर जला, अष्टधातु की मूर्तियों समेत पुरातन शैली का सामान स्वाहा
2 Traffic Rule: चप्पल पहनकर टू-व्हीलर चलाया तो लगेगा इतना जुर्माना, दोबारा पकड़े जाने पर होगी 15 दिन की जेल