ताज़ा खबर
 

हार्दिक पटेल, जिग्नेश मेवानी और अल्पेश ठाकोर पर केस दर्ज, महिला ने दर्ज कराया मुकदमा

महिला का घर गांधीनगर पुलिस अधीक्षक के ऑफिस के पास ही स्थित है। उसने अपनी शिकायत में बताया कि तीनों नेताओं ने कई सारे समर्थकों के साथ उस वक्त तथाकथित रेड डाली, जब उसके घर में कोई पुरुष नहीं थे।

जिग्नेश मेवानी, हार्दिक पटेल और अल्पेश ठाकोर (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, विधायक और ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर और दलित नेता-विधायक जिग्नेश मेवानी के खिलाफ गांधीनगर में केस दर्ज किया गया है। तीनों नेताओं पर एक महिला की शिकायत पर केस दर्ज किया गया है। महिला का आरोप है कि तीनों नेताओं ने गांधीनगर स्थित उसके घर में घुसकर शराब रखने का आरोप लगाते हुए रेड डाली थी। महिला कंचनबेन मकवाना के मुताबिक तीनों नेता अपने कई सारे समर्थकों के साथ आए थे और उसके घर में घुस गए थे। तीनों वहां किसी तरह के शराब के कारोबार को उजागर करना चाहते थे। कंचनबेन ने गांधीनगर सेक्टर 21 पुलिस स्टेशन में रिपोर्ट दर्ज कराई है।

महिला का घर गांधीनगर पुलिस अधीक्षक के ऑफिस के पास ही स्थित है। उसने अपनी शिकायत में बताया कि तीनों नेताओं ने कई सारे समर्थकों के साथ उस वक्त तथाकथित रेड डाली, जब उसके घर में कोई पुरुष नहीं थे। पुलिस के मुताबिक महिला ने कहा, ‘तीनों ने देसी शराब के दो पैकेट भी उसके घर में रख दिए, ताकि ये साबित हो सके कि उसके घर में शराब का अड्डा है।’

HOT DEALS
  • I Kall K3 Golden 4G Android Mobile Smartphone Free accessories
    ₹ 3999 MRP ₹ 5999 -33%
    ₹0 Cashback
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 27200 MRP ₹ 29500 -8%
    ₹4000 Cashback

पुलिस ने बताया कि महिला का कहना है कि वह शराब नहीं बेचती है और जो दो पैकेट उसके घर से मिले हैं, वह उन्हीं लोगों ने छिपाए थे, जो उसके घर में रेड डालने के उद्देश्य से घुसे थे। पुलिस ने बताया कि महिला की शिकायत पर हार्दिक पटेल, जिग्नेश मेवानी, अल्पेश ठाकोर समेत उनके दर्जनों समर्थकों के खिलाफ आईपीसी की धारा 452, 504 और 193 के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने बताया कि अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई है।

आपको बता दें कि गुजरात में साल 1960 से कानूनी तौर पर शराब बनाने, स्टोर करने, बेचने और पीने पर बैन लगा हुआ है। महिला द्वारा शिकायत दर्ज कराने के बाद हार्दिक पटेल ने ट्विटर पर कहा, ‘गुजरात के गांधीनगर में DSP ऑफिस के सामने शराब के अड्डों पर हमने जनता रेड की और देशी शराब पकड़ी, लेकिन भाजपा और पुलिस ने अपनी इज्जत बचाने के लिए शराब का धंधा नहीं हो रहा यह साबित कर दिया और शराब के धंधा करने वाले लोगों से ही हम पर FIR करवाई, पुलिस का काम जनता ने किया, वही गुनाह!!’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App