ताज़ा खबर
 

मुख्यमंत्री बनने के बाद पहले हफ्ते में ही योगी आदित्यनाथ ने दिए 50 फरमान, अब तक नहीं की कोई कैबिनेट मीटिंग

9 मार्च को योगी आदित्यनाथ ने यूपी के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।

यूपी पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश देते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।

19 मार्च को यूपी के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले योगी आदित्यनाथ ने कुर्सी संभालने के बाद भले ही एक भी कैबिनेट मीटिंग न की हो, लेकिन एक हफ्ते (150 घंटे) में वह अब तक 50 आदेश दे चुके हैं, जिसमें अवैध बूचड़खानों पर बैन, एंटी-रोमियो स्क्वॉड मुख्य हैं। पिछले कुछ दिनों से उनके फैसले ही मुद्दे बने हुए हैं। उन्होंने कानून-व्यवस्था सुनिश्चित करते हुए सख्त पुलिसिंग का आदेश दिया है ताकि कोई भी ईव-टीजिंग की घटना न हो। इससे लड़कियों और महिलाओं में सुरक्षा का भाव देखा गया है। राज्य के अलग-अलग शहरों में एंटी-रोमियो स्क्वॉड ने कई मनचलों को पकड़ा है।

TOI की रिपोर्ट के मुताबिक मंत्रियों और अधिकारियों को आदेश दिया गया है कि वह 10 बजे तक अॉफिस पहुंचें और बायोमीट्रिक सिस्टम लगने से सरकारी दफ्तरों में पहुंचने वाले लोग भी राहत महसूस कर रहे हैं। इसके अलावा सरकारी दफ्तरों में पान मसाला और गुटखे पर बैन ने भी लोगों का ध्यान खींचा है। कैलाश-मानसरोवर पर जाने वाले तीर्थयात्रियों के लिए सब्सिडी बढ़ाकर 1 लाख रुपये कर दी गई है, जो पहले 50 हजार थी। इन लोगों के लिए नई दिल्ली के पास एक मानसरोवर भवन भी बनाया जाएगा।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64 GB Blue
    ₹ 16699 MRP ₹ 16999 -2%
    ₹0 Cashback
  • Apple iPhone 7 32 GB Black
    ₹ 41498 MRP ₹ 50810 -18%
    ₹6000 Cashback

इसके अलावा उन्होंने पीडब्ल्यूडी से यह भी कहा है कि 15 जून तक राज्य की सभी सड़कों के गड्ढे भरे जाएं। उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया है कि आपराधिक बैकग्राउंड वाले सभी कॉन्ट्रैक्टरों को हटाकर साफ-सुथरी छवि वालों को काम दें। योगी ने मंत्रियों और अधिकारियों से यह भी कहा है कि वह फाइलें घर न ले जाएं और अॉफिस के दौरान ही उन्हें निपटाएं। मुख्यमंत्री ने यह भी आदेश दिया है कि हर पुलिस स्टेशन के रिसेप्शन पर एक महिला और एक पुरुष कर्मी हमेशा मौजूद रहेंगे। उन्होंने राज्य पुलिस में महिला कर्मियों की संख्या बढ़ाने के भी निर्देश दिए हैं। हर पुलिस स्टेशन में साफ पीने का पानी सुनिश्चित करने के अलावा सभी विभागों को एक सिटिजन चार्टर बनाने को भी कहा गया है।

सरकारी दफ्तरों में सीसीटीवी कैमरे लगाने के भी निर्देश दिए गए हैं। राजनेताओं की सुरक्षा समीक्षा के अलावा सभी से अपनी संपत्ति का ब्योरा 15 दिन में देने को कहा गया है। नवरात्र, रामनवमी और शक्तिपीठों में 9 दिन लगातार बिजली देने का भी आदेश दिया गया है। उन्होंने अधिकारियों से यह भी कहा है कि हर गांव को बिजली कैसे दी जाए, इसके लिए प्लान बनाया जाए।

योगी द्वारा एक हफ्ते में लिए गए बड़े फैसले

– लोक निर्माण विभाग को आदेश- 15 जून तक राज्य की सभी सड़कें गड्ढा मुक्त हो।
– महिलाओं की सुरक्षा के लिए एंटी रोमियो स्क्वैड।
– अवैध बूचड़खानों को बंद करने के लिए पुलिस को एक्शन प्लान बनाने के निर्देश। गो तस्करी पूरी तरह से रोकी जाए।
– सरकारी दफ्तरों में पान, गुटका, पॉलिथीन पर बैन।
– अधिकारी और मंत्री 15 दिनों के भीतर दें संपत्ति की जानकारी।
– सरकारी फाइल घर न ले जाने के आदेश।
– राजनेताओं की सुरक्षा की समीक्षा।
– इलाहाबाद, मेरठ, आगरा, गोरखपुर और झांसी में मेट्रो सेवा।
– स्कूल में टीचर नहीं पहने टी-शर्ट। मोबाइल के गैर-जरुरी उपयोग पर भी बैन।
– प्रत्येक विभाग में नागरिक चार्टर बनाना। पुलिस स्टेशन समेत सभी सरकारी कार्यलयों में पीने के पानी की उचित व्यवस्था।
– सभी सरकारी दफ्तरों में लगाए जाए सीसीटीवी कैमरे।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जुड़ी 10 बातें, देखें वीडियो ः

योगी के CM बनते ही एक्शन में आया एंटी रोमियो स्कवैड; लेकिन कई जगह हुआ कानून का उल्लंघन

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App