ताज़ा खबर
 

सीएम वसुंधरा राजे के खिलाफ चुनाव लड़ना चाहती हैं इस आईपीएस की पत्‍नी

मुख्यमंत्री को कुशासन और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर चुनौती देने के लिये 2009 बैच के राजस्थान कैडर के आईपीएस अधिकारी पंकज चौधरी की पत्नी मुकुल चौधरी झालरापाटन से चुनाव लड़ेंगी।

Author September 24, 2018 3:52 PM
amit shah Ghanshyam Tiwari, Ghanshyam Tiwari resigns, BJP MLA Ghanshyam Tiwari, Rajasthan bjp mla, Rajasthan bjp, Vasundhara raje, cm Vasundhara raje, Rajasthan assembly election 2018, amit shah, Hindi news, News in Hindi, Jansattaवसुंधरा राजे (Express file photo)

राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के निर्वाचन क्षेत्र झालरापाटन से भारतीय पुलिस सेवा के एक अधिकारी की पत्नी निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ेंगी। मुख्यमंत्री को कुशासन और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर चुनौती देने के लिये 2009 बैच के राजस्थान कैडर के आईपीएस अधिकारी पंकज चौधरी की पत्नी मुकुल चौधरी झालरापाटन से चुनाव लड़ेंगी। चौधरी ने बताया कि लोकतंत्र में राजे के शासन में अन्याय से लड़ने के लिये उन्होंने चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है। चौधरी ने रविवार को बताया कि ”मैं निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में भ्रष्टाचार और कुशासन के मुद्दे पर अपने जन्म स्थान झालरापाटन से चुनाव लडूंगी। झालावाड़ मेरी जन्मभूमि है। अब इसे कर्मभूमि बनाना है। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के शासन में पूरा प्रदेश भ्रष्टाचार और कुशासन की मार झेल रहा है। प्रदेश में अपराधों की संख्या बढ रही है। मैं इन मुद्दों पर जमीनी स्तर पर काम कर रही हूं। यहां के लोगों ने मुझे बुलाया है। वे चाहते हैं कि मैं भ्रष्टाचार और तानाशाही का अंत हो। हमारा संघर्ष जारी है। भ्रष्टाचार को जड़ से उखाड़ फेंकना है।”

चौधरी ने बताया कि उनके पति को प्रताड़ित किया गया और ईमानदारी से काम करने के बावजूद उन्हें चार्जशीट और लगातार स्थानांतरण से रूबरू होना पड़ा। उन्होंने बताया कि, ”ईमानदार अधिकारियों को प्रताड़ित किया जा रहा है और मेरे पति भी उसका हिस्सा हैं। मैं पहले झालरापाटन की बेटी और उसके बाद ईमानदार आईपीएस अधिकारी की पत्नी हूं। उन्होंने बताया कि झालरापाटन से चुनाव लडने की वहज यह है कि सरकार की मुखिया मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे यहां से विधायक चुनी जाती हैं। मुझे भ्रष्टाचार, कुशासन और लोगों की परेशानियों के लिये चुनाव लड़ने की प्रेरणा मिली है।”

चौधरी की मां शांति दत्ता 1993 में पूर्व भैंरो सिंह शेखावत सरकार में कानून मंत्री थीं जबकि उनके पति जयपुर में स्टेट क्राइम रिकार्डस ब्यूरो में पुलिस अधीक्षक हैं। अब तक के अपने कॅरियर में पंकज चौधरी कई बार विवादों में घिर चुके हैं। उनके खिलाफ अब तक 7 चार्जशीट भी फाइल हो चुकी है। हालांकि, मुकुल चौधरी के चुनाव लड़ने के फैसले पर कहते हैं कि यह मेरी पत्नी का फैसला है। वो जो चाहे कर सकती हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 हिमाचल में कुदरत का कोहराम: स्‍टैंड पर खड़ी बस तेज बहाव में बह गई, देखें वीडियो
2 अमेठी में कांवड़‍ियों से मिले राहुल गांधी, शिवालय में की पूजा
3 राहुल गांधी ने ‘लेडी अमिताभ’ को चुना स्‍टार प्रचारक, कांग्रेसी खुश नहीं
ये पढ़ा क्या?
X