ताज़ा खबर
 

जब वाशिंगटन में मनमोहन को लेकर पूछा गया- क्‍या आपके पीएम अंडर अचीवर हैं? शिवराज ने दिया था ये जवाब

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर राजनैतिक शिष्टाचार समाप्त करने का आरोप लगाते हुए गुरुवार को कहा कि ‘‘हम देश के भीतर वैचारिक आधार पर लड़ सकते हैं, लेकिन विदेशों में जाकर देश को बदनाम करने की हमारी परंपरा कभी नहीं रही।’’

Author सागर (मध्य प्रदेश) | August 30, 2018 5:09 PM
मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान। (express file photo)

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर राजनैतिक शिष्टाचार समाप्त करने का आरोप लगाते हुए गुरुवार को कहा कि ‘‘हम देश के भीतर वैचारिक आधार पर लड़ सकते हैं, लेकिन विदेशों में जाकर देश को बदनाम करने की हमारी परंपरा कभी नहीं रही।’’ प्रदेश में जन आशीर्वाद यात्रा के तहत यहां आने पर मुख्यमंत्री चौहान ने आज पत्रकार वार्ता में कहा, ‘‘कांग्रेस आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति कर रही है। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी विदेशों में जाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भारतीय जनता पार्टी की आलोचना करते हैं, जो कि समझ से परे है।

उन्होंने कहा, ‘‘हम देश के भीतर वैचारिक आधार पर लड़ सकते हैं लेकिन विदेशों में जाकर देश को बदनाम करने की हमारी परंपरा कभी नहीं रही। राहुल गांधी कौन सी परंपरा निभा रहे हैं? कांग्रेस का राजनैतिक शिष्टाचार समाप्त हो चुका है।’’ मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘मैं एक बार वॉशिंगटन गया था, तब मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे। वहां के पत्रकारों ने मुझसे पूछा कि आपके प्रधानमंत्री ‘अंडर अचीवर’ (कम उपलब्धि हासिल करने वाला) हैं। मैंने तुरंत उस पर आपत्ति प्रकट की और कहा कि भारत का प्रधानमंत्री ‘अंडर अचीवर’ नहीं हो सकता। वह किसी पार्टी के प्रधानमंत्री नहीं हैं वह देश के प्रधानमंत्री हैं, वो हमारा गर्व हैं।’’ उन्होंने प्रदेश में चल रही जन आशीर्वाद यात्रा को लेकर कांग्रेस पार्टी द्वारा लगातार की जा रही आलोचना पर कहा कि उन्हें कांग्रेस पार्टी की चिंता हो रही है, इस पार्टी में विचारों के जरिए विरोध करने की संस्कृति ही खत्म होती जा रही है। यहां तक की कांग्रेस पार्टी के अंदर ही नेता एक-दूसरे के खिलाफ लड़ रहे है। इस पार्टी का आगे न जाने क्या होगा।

चौहान ने कहा, ‘‘मध्य प्रदेश में पहले भी चुनाव होते थे, लेकिन इन चुनावों से पहले ऐसा नहीं हुआ कि अभद्र तरीके से हमले बोले जाएं। लोकतंत्र में राजनैतिक प्रतिद्वंद्विता और विचारों में मतभेद होता है। मध्य प्रदेश की राजनीति ने संस्कार और संस्कृति को कभी नहीं भूला, लेकिन इन चुनावों में कांग्रेस सत्ता के लिए संस्कारों को भूलकर अनर्गल और अमर्यादित आचरण कर रही है। कभी वो हमें नालायक कहते हैं तो कभी वैश्या का दर्जा देते हैं, तो कभी मदारी कहते हैं। मध्यप्रदेश की जनता कांग्रेस की इस घृणित मानसिकता का उसे जवाब देगी।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App