यूपी के गाजियाबाद का नाम बदलकर यह रखना चाहते हैं बीजेपी सांसद, योगी को लिखी चिट्ठी

उत्तर प्रदेश में फैजाबाद और इलाहाबाद जिलों के नाम बदले जाने के बाद गजियाबाद का नाम बदलने की मांग उठी है।

उप्र में गाजियाबाद का नाम बदलने की उठी मांग

उत्तर प्रदेश में फैजाबाद और इलाहाबाद जिलों के नाम बदले जाने के बाद गजियाबाद का नाम बदलने की मांग उठी है। भाजपा के राज्यसभा सांसद अनिल अग्रवाल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर गाजियाबाद का नाम महाराज अग्रसेन नगर रखने की मांग उठाई है। अग्रवाल ने कहा, “गाजियाबाद में सबसे ज्याद वैश्य समाज के लोग रहते हैं। यहां उनकी ही बहुलता है। इस कारण से यहां नाम बदला जाना चाहिए। यह मांग बहुत दिनों से वैश्य समाज के लोग करते चले आ रहे हैं। राज्यसभा सांसद ने कहा कि मुगल शासक गाजीउद्दीन ने गाजियाबाद बसाया था, लेकिन वह एक शासक था, और गाजियाबाद के विकास में वैश्य समाज का बहुत बड़ा योगदान रहा है।

अग्रवाल ने कहा, “जनपद में सबसे ज्यादा कारोबार वैश्य समाज द्वारा ही किया जा रहा है। सबसे ज्यादा राजस्व भी इसी जिले से सरकार को जाता है। इसलिए इस पर ध्यान देना चाहिए। गाजीउद्दी के नाम पर गजियाबाद गुलामी के दिनों की याद दिलाता है।

इसलिए इसका नाम प्राथमिकता के आधार पर बदला जाना चाहिए। गौरतलब है कि इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज रख दिया गया है। इसके अलावा फैजाबाद को भी अयोध्या किया गया है।  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट ने मंगलवार को इलाहाबाद का नाम बदलकर ‘प्रयागराज’ करने समेत 12 प्रस्तावों को मंजूरी दी थी। लोकभवन में हुई मंत्रिपरिषद की बैठक के बाद राज्य सरकार के प्रवक्ता व स्वास्थ्य मंत्री डॉ.सिद्धार्थनाथ सिंह ने मीडिया को बताया कि इलाहाबाद अब से प्रयागराज के नाम से जाना जाएगा।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट