ताज़ा खबर
 

‘TMC कार्यकर्ताओं’ से झड़प के बाद 5 पत्रकार अरेस्ट, पुलिस पर आरोप- नेताओं के दबाव में दर्ज नहीं की शिकायत

पत्रकार वहां एक चाय की दुकान पर बैठकर चाय पी रहे थे। तभी खड़े लोगों ने चुनाव में उनके न्यूज चैनल की भूमिका पर सवाल खड़े करते हुए अभद्र टिप्पणियां करनी शुरू कर दीं। इसके बाद दोनों गुटों के बीच लड़ाई शुरू हो गई।

Author कोलकाता | May 23, 2016 09:21 am
पत्रकारों का कहना है कि जिन लोगों से उनकी लड़ाई हुई वे तृणमूल कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता थे

पांच पत्रकारों को शनिवार (21 मई) को पश्चिम बंगाल में स्थानीय लोगों के साथ मारपीट के आरोप में गिरफ्तार किया गया। पश्चिम मेदनीपुर की इस घटना में एक शख्स के गंभीर चोट भी लग गई। इन पत्रकारों को बाद में जमानत पर छोड़ दिया गया है। 20 मई को नतीजे घोषित होने के बाद ये सभी पत्रकार वहां एक चाय की दुकान पर बैठकर चाय पी रहे थे। तभी वहां खड़े लोगों ने चुनाव में उनके न्यूज चैनल की भूमिका पर सवाल खड़े करते हुए अभद्र टिप्पणियां करनी शुरू कर दीं। इसके बाद दोनों गुटों के बीच लड़ाई शुरू हो गई। इस मारपीट में देबराज राय नाम के एक शख्स की टांग टूट गई।

उन लोगों ने मीडियाकर्मियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कर दी और स्थानीय नेताओं से कहलवाकर सबको हिरासत में लेने का दबाव बनाया। इसके बाद पुलिस ने 5 मीडियाकर्मियों को उनके घर से गिरफ्तार कर लिया।

Read Also: केरल में एलडीएफ की जुलूस में फेंका गया बम, एक की मौत, बंगाल में TMC सदस्‍यों ने की आगजनी

जिन लोगों को पुलिस ने पकड़ा उसमें ABP के अमिताभ रथ, ETV के राजू सिंह, 24 Ghanta के सौरव चौधरी, Aaj Tak के देबिन तिवारी और ABP के कैमरामैन आलोक शामिल थे। सभी पर पुलिस ने संयम खोने के लिए धारा 341, इरादतन खतरनाक हथियार से चोट पहुंचाने के लिए धारा 326, गैर इरादतन हत्या की कोशिश के लिए 308, अपराधिक धमकी के लिए धारा 506 और समूह बनाकर किसी अपराध को अंजाम देने के लिए धारा 34 लगाई है। गिरफ्तारी के बाद रविवार को वहां की स्थानीय कोर्ट ने सभी को जमानत पर छोड़ दिया।

पुलिस ने बताया कि उनके मौके पर पहुंचने पर बात को संभाला जा सका था। वहीं, अपनी सफाई में 24 घंटे के सौरव चौधरी ने कहा कि उन्होंने खुद जाकर पुलिस में सरेंडर किया था। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि वे स्थानीय लोग शराब में नशे में अभद्र बातें बोल रहे थे और विरोध करने पर सब लोगों ने उन समेत बाकी पत्रकारों पर हमला कर दिया। उनका कहना है कि देबराज की टांग वहां हुई धक्का-मुक्की में गिरने से टूटी थी।

अब एक तरफ पुलिस कह रही है कि पत्रकारों की तरफ से उनके पास कोई शिकायत नहीं आई वहीं, पत्रकारों का कहना है कि वे लोग शिकायत करने गए थे पर TMC पार्टी के दवाब में पुलिस ने उनकी शिकायत दर्ज नहीं की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App