ताज़ा खबर
 

बंगाल: बीजेपी महिला मोर्चा अध्‍यक्ष बोलीं- यात्रा रोकने की कोशिश की तो रथ से कुचल देंगे

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित भाई शाह ने पश्चिम बंगाल में तीन 'रथ यात्रा' निकालने का फैसला किया था। ये रथ यात्रा साल 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले प्रदेश की सभी 42 लोकसभा सीटों में निकलेगी

पश्चिम बंगाल में भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष लॉकेट चटर्जी। फोटो- Express photo by Partha Paul.

भारतीय जनता पार्टी की पश्चिम बंगाल में महिला मोर्चा की अध्यक्ष ने एक विवादित बयान दिया है। महिला मोर्चा अध्यक्ष ने शनिवार (10 नवंबर) को एएनआई से कहा कि वे लोग जो राज्य में पार्टी की ‘रथ यात्रा’ को रोकने की कोशिश कर रहे हैं, उन्हें ‘रथ के पहियों के नीचे कुचल दिया जाएगा।’ विवादित बयान देने वाली ये नेता बीजेपी महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष लॉकेट चटर्जी हैं। लॉकेट चटर्जी ने कहा कि ये ‘यात्रा’ प्रदेश में लोकतंत्र की पुर्नजीवित करने के लिए निकाली जा रही है। लॉकेट चटर्जी ने ये बयान मालदा जिले में पत्रकारों से बात करते हुए दिया।

बता दें कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित भाई शाह ने पश्चिम बंगाल में तीन ‘रथ यात्रा’ निकालने का फैसला किया था। ये रथ यात्रा साल 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले प्रदेश की सभी 42 लोकसभा सीटों में निकलेगी। रथ यात्रा क्रमश: 5,7 और 9 दिसंबर को निकाली जाएगी। यात्रा के समाप्त होने पर भाजपा कोलकाता में भव्य रैली का आयोजन करेगी। इस रैली को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह संबोधित करेंगे।

पश्चिम बंगाल में भाजपा की महिला मोर्चा अध्यक्ष लॉकेट चटर्जी ने कहा,”रथ यात्रा का मकसद पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र को बचाना है। इसे कोई नहीं रोक सकता और यदि किसी ने इसे रोकने की कोशिश की तो वे रथ के पहियों के नीचे कुचल दिए जाएंगे।”

लॉकेट चटर्जी के इस बयान की प्रदेश में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) महासचिव पार्थ चटर्जी ने निंदा की है। पार्थ चटर्जी ने चटर्जी पर भड़काऊ बयान देकर राज्य की शांति और कानून-व्यवस्था को भंग करने की कोशिश का आरोप लगाया है। चटर्जी ने कहा,” भाजपा का मकसद बंगाल में अपने और आरएसएस के सांप्रदायिक एजेंडे को लागू करना है। इसीलिए वे उकसाने वाले बयान दे रहे हैं। लेकिन बंगाल की जनता बीजेपी की बांटकर राज करने वाली नीति को कामयाब नहीं होने देंगे।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App