राजस्थान: मुस्लिम मजदूर के शव पर मिले एसिड के जलने के निशान, बंगाल में घरवालों ने की CBI जांच की मांग - West Bengal labour from Malda dies mysterious death in Rajasthan Family wants cbi probe - Jansatta
ताज़ा खबर
 

राजस्थान: मुस्लिम मजदूर के शव पर मिले एसिड के जलने के निशान, बंगाल में घरवालों ने की CBI जांच की मांग

साकिर अली के भाई जाकिर अली ने कहा, 'साकिर के शरीर पर जख्म और तेजाब से जले होने के निशान थे, राजस्थान पुलिस इसे आत्महत्या का मामला बता रही है, लेकिन हमें लगता है कि हमारे भाई का कत्ल किया गया है, हम सीबीआई जांच चाहते हैं।

साकिर अली पिछले पांच साल से घर नहीं आया था।

पश्चिम बंगाल के जिस मजदूर की राजस्थान में संदिग्ध हालत में मौत हुई है उसके परिवार वालों ने आरोप लगाया है कि ये साफ-साफ हत्या का मामला है, परिवार ने CBI से इस मामले की जांच की मांग की है। बता दें कि मालदा के चांचोल पुलिस स्टेशन के स्वरुपनगर गांव के रहने वाले साकिर अली की मौत जयपुर में हो गई थी। 38 साल के साकिर अली के शरीर पर तेजाब से जलने के निशान थे। इंडियन एक्सप्रेस से फोन पर बात करते हुए साकिर अली के भाई जाकिर अली ने कहा, ‘साकिर के शरीर पर जख्म और तेजाब से जले होने के निशान थे, राजस्थान पुलिस इसे आत्महत्या का मामला बता रही है, लेकिन हमें लगता है कि हमारे भाई का कत्ल किया गया है, हम सीबीआई जांच चाहते हैं, हमें नहीं लगता कि राजस्थान पुलिस सच्चाई का पता लगा पाएगी, साकिर के साथ 10 से 12 लोग रहते हैं लेकिन किसी ने कुछ नहीं देखा, ऐसा कैसे हो सकता है कि रूम में कोई मौजूद ना हो, वो सभी अभी फरार हैं।’ बता दें कि मालदा के इस मजदूर की मौत की घटना से कुछ ही दिन पहले राजस्थान के ही राजसमंद में मुहम्मद अफराजुल खान नाम के शख्स की शंभूलाल ने हत्या कर दी थी। राजस्थान के रहने वाले शंभूलाल ने अफराजुल खान की हत्या को रिकॉर्ड किया था और इसे लव जिहाद का मामला बताकर सोशल मीडिया पर डाल दिया था।

साकिर अली पिछले 10 साल से राजस्थान में रहकर मजदूरी का काम करता था। वह शास्त्रीनगर थाने के हाजी कॉलोनी में दूसरे मजदूरों के साथ रहता था। शुक्रवार (19 जनवरी) को शाकिर की डेड बॉडी उसके गांव में लाई गई और उसे सुपुर्द-ए-खाक किया गया। साकिर के पिता का कहना है कि साकिर पांच साल पहले पंचायत चुनाव के दौरान घर आया था, लेकिन वह फोन के जरिये घरवालों से संपर्क रखता था। साकिर के भाई ने बताया, ‘मंगलवार (16 जनवरी) की शाम को एक मजदूर ने हमलोगों को फोनकर बताया कि साकिर अपने कमरे में मरा हुआ पाया गया है, हमने अपने बड़े भाई अनवारुल को सूचना दी जो कि जयपुर में ही रहता है, जब वह वहां पहुंचे तो कमरे में उसका शव पड़ा हुआ था, उसके शरीर पर जख्म और एसिड के निशान थे।’

जाकिर के घरवालों ने कहा कि उसका भाई जिस ठेकेदार के यहां काम करता था उसने जल्दबाजी में लाश को पश्चिम बंगाल भिजवा दिया।’ साकिर की शादी 15 साल पहले हुई थी, तब वह मुंबई में रहता था, लेकिन 5 साल पहले उसका अपनी पत्नी से तलाक हो चुका था, अब राजस्थान में अकेले रहता था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App