ताज़ा खबर
 

‘लव जिहाद’ पर हिन्दू युवतियों को विहिप की नसीहत: वो हीरो बनकर आएंगे, महंगे गिफ्ट और अच्छा खाना देंगे पर आप फंसना मत

विहिप का आरोप है कि पैसे लेकर कुछ मुस्लिम युवक हिन्दू महिलाओं को फांसने के लिए लव जिहाद छेड़ रहे हैं।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

नवरात्र से पहले विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) की पश्चिम बंगाल इकाई ने लव जिहाद से हिन्दू युवतियों और महिलाओं के सचेत किया है और उन्हें एडवायजरी जारी कर मुस्लिम युवकों से दूर रहने की सलाह दी है। विहिप ने अपनी एडवायजरी में क्या करें और क्या न करें की एक लिस्ट जारी की है। इन लिस्ट की पर्ची भी राज्य में बंटवाई है। उस पर्ची के मुताबिक विहिप ने नसीहत दी है कि मुस्लिम युवा हीरो की तरह हिन्दू लड़कियों के सामने आएंगे और एक्टिंग कर उन्हें अपने जाल में फंसाने की कोशिश करेंगे। विहिप ने कहा है कि वो आपको महंगे गिफ्ट भी देंगे और अच्छा-अच्छा खाना भी खिलाएंगे लेकिन होशियार रहना, उसके जाल में फंसना मत। विहिप ने सलाह दी है कि जब भी कोई प्रेमजाल में फांसने की कोशिश करे तो उसकी सूचना तुरंत नजदीकी थाने को दें या विहिप को बताएं।

विहिप ने अपनी एडवायजरी में विवाहित हिन्दू महिलाओं से पारंपरिक मंगलसूत्र पहनने, माथे पर सिंदूर लगाने और हाथों में शंखा चूड़ी पहनने की सलाह दी है और कहा है कि हिन्दू होने पर गर्व महसूस करें। विहिप का आरोप है कि पैसे लेकर कुछ मुस्लिम युवक हिन्दू महिलाओं को फांसने के लिए लव जिहाद छेड़ रहे हैं। विहिप ने दुर्गा वाहिनी और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को भी निर्देश दिया है कि वो पम्पलेट और बुकलेट छपवाकर डोर-टू-डोर कैम्पेन चलाएं और अगर कोई युवती लव जिहाद का शिकार हो गई है तो उसे अपने पति को हिन्दू बनाने के लिए प्रेरित करे।

बता दें कि कुछ महीने पहले कोलकाता पुलिस ने फेसबुक पर लव जिहाद से जुड़े कई सीरीज पोस्ट के खिलाफ जांच शुरू की है। हिन्दुत्व वार्ता नाम के संगठन ने फेसबुक पर 102 ऐसे जोड़ों के बारे में जानकारी अपलोड की थी जिन्होंने अंतर धार्मिक विवाह किया था और हिन्दू महिलाओं को लव जिहाद के नाम पर मुस्लिम बनाया जा रहा था। हमारे सहयोगी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए विश्व हिन्दू परिषद के आयोजन सचिव सचिंद्रथ सिन्हा ने कहा कि यह एक ऐसा मुद्दा है जिसके खिलाफ हम पूरे बंगाल में जागरूकता अभियान चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि लव जिहाद पश्चिम बंगाल में एक बड़ी और गंभीर समस्या है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App