ताज़ा खबर
 

कर्फ्यू और पुलिस-प्रशासन को बीजेपी सांसदों ने दिखाया अंगूठा, बोले- आसनसोल-रानीगंज दंगा में सीएम ने नहीं दिखाई ममता

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी ने शनिवार को हिंसा प्रभावित आसनसोल और रानीगंज का दौरा किया था। वहां उन्होंने वरिष्ठ पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक करने के साथ ही लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की।
आसनसोल हिंसा के बाद इलाके में पेट्रोलिंग करता हुआ सुरक्षा दस्ता। (फोटो सोर्स इंडियन एक्सप्रेस)

रामनवमी जुलूस को लेकर आसनसोल में भड़की हिंसा के बाद शहर की स्थिति का जायजा लेने के लिए भाजपा का चार सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल आज (01 अप्रैल को) निषेधाज्ञा का उल्लंघन कर वहां पहुंचा। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने पश्चिम बंगाल की तृणमूल कांग्रेस सरकार पर पश्चिम बर्दवान जिले में आसनसोल-रानीगंज क्षेत्र में स्थिति नियंत्रित करने में विफल रहने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘‘हम आसनसोल में रामकृष्णपुर और धड़का के राहत शिविरों में गये और हमने पाया कि जो कुछ हुआ वह गलत था। यह राज्य सरकार की विफलता है।’’ उन्होंने लोगों से शांति बनाये रखने की अपील की।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने यह प्रतिनिधिमंडल भेजा है जो अपनी वापसी पर उन्हें रिपोर्ट सौंपेगा। प्रतिनिधि मंडल में हुसैन के अलावा पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और राज्य सभा सदस्य ओम प्रकाश माथुर, पलामू के सांसद और झारखंड पुलिस के पूर्व महानिदेशक विष्णु दयाल राम और राज्य सभा सांसद रूपा गांगुली हैं। आसनसोल के रास्ते में बसरा मोड़ और कालीपहाड़ी पर पुलिस ने प्रतिनिधिमंडल से रुक जाने का अनुरोध किया था क्योंकि इलाके में निषेधाज्ञा में लगी है लेकिन संक्षिप्त बातचीत के बाद भाजपा नेता आसनसोल की अपनी यात्रा की योजना के हिसाब से आगे बढ़ गये। इधर, आसनसोल के एसपी एन एल मीऩा ने बताया कि धारा 144 का उल्लंघन करनेवाले बीजेपी नेताओं के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

आसनसोल पहुंचने के पश्चात प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों ने राहत शिविरों में ठहरे लोगों से बातचीत की। उनके साथ स्थानीय भाजपा नेता भी थे। राज्य सरकार ने कल कहा था कि वह भाजपा टीम को कोयला नगरी आसनसोल और रानीगंज नहीं जाने देगी क्योंकि दंगा प्रभावित इन शहरों में सीआरपीसी धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगी है। उसने यह भी कहा था कि पंचायत चुनाव की घोषणा होने और आचार संहिता लागू होने के बाद वह भाजपा प्रतिनिधि मंडल को दंगा प्रभावित आसनसोल और रानीगंज की यात्रा के दौरान पर्याप्त सुरक्षा नहीं मुहैया करा पाएगी।

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी ने शनिवार को हिंसा प्रभावित आसनसोल और रानीगंज का दौरा किया था। वहां उन्होंने वरिष्ठ पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक करने के साथ ही लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की। आसनसोल-रानीगंज में रामनवमी के जश्न के मौके पर दो समूहों के बीच झड़प हो गई जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई और दो पुलिसकर्मी घायल हो गए। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार इन दोनों शहरों में इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गयी हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App