ताज़ा खबर
 

TMC सांसद का पूरा भाषण नहीं दिखाया, आपत्ति जताने पर राज्‍यसभा टीवी ने मांगी माफी

तृणमूल कांग्रेस सांसद ने पूरा भाषण न प्रसारित होने का आरोप लगाया तो राज्यसभा ने मांगी माफी, विपक्ष ने कहा-भाजपा टीवी न बने राज्यसभा टीवी, विपक्ष को भी मिलना चाहिए उचित कवरेज।

Author नई दिल्ली | February 8, 2018 12:28 pm
तृणमूल कांग्रेस सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने राज्यसभा टीवी पर पांच मिनट के भाषण का प्रसारण न करने का आरोप लगाया( फोटो-यूट्यूब)

विपक्षी दलों ने राज्यसभा टीवी पर कवरेज देने के मामले में भेदभाव करने का आरोप लगाया है। तृणमूल कांग्रेस सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने पूरा भाषण न दिखाने पर राज्यसभा टीवी पर पर ब्लैकआउट करने का आरोप लगाया। उनके मुताबिक करीब पांच मिनट का भाषण टीवी पर चला ही नहीं। मामले के तूल पकड़ने पर राज्यसभा टीवी की ओर से माफी मांगी गई। राज्यसभा के ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर इस बाबत कहा गया कि तकनीकी कारणों से  अंश का प्रसारण नहीं हो सका। अब दोबारा भाषण का प्रसारण होगा। इसके पीछे पॉवर फेल्योर को कारण बताया गया। इसके अलावा राज्यसभा टीवी ने लिंक के साथ ट्वीट कर सांसद को जानकारी दी कि उनके भाषण को यूट्यूब चैनल पर अपलोड कर दिया गया है। बाद में सांसद ब्रायन ने माफी की बात स्वीकार करते हुए कहा कि वे यहीं पर मामले को खत्म करना चाहते हैं।

उधर कांग्रेस ने भी राज्यसभा टीवी पर विपक्षियों पार्टियों के साथ भेदभाव करने का आरोप लगाया। कहा कि सत्ताधारी दल के नेताओं को सबसे ज्यादा कवरेज मिलती है। राज्यसभा में नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा, ‘यह एक गंभीर मुद्दा है। सभी राजनीतिक पार्टियों को राज्यसभा टीवी पर कवरेज मिलना चाहिए। आजाद ने कहा, ‘यह राज्यसभा टीवी है, इसे बीजेपी टीवी मत बनाइए।’ आजाद तृणमूल सांसद ब्रायन के आरोप के बाद राज्यसभा टीवी को आड़े हाथों ले रहे थे। ब्रायन ने कहा था कि राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान उनके पांच मिनट के भाषण को गुल कर दिया गया। गुलाम नबी आजाद ने कहा कि-, ‘मैं सोमवार रात राज्यसभा टीवी देख रहा था, इस दौरान 98 फीसदी कवरेज बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के भाषण को दिया गया, जबकि विपक्षी दलों के विचारों को सिर्फ 16 सेकेंड प्रसारित किया गया।’ समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल भी मंगलवार को राज्यसभा टीवी को भारतीय जनता पार्टी का टीवी बताकर निशाना साध चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App