ताज़ा खबर
 

बंगाल: बच्चाचोर समझ भीड़ ने महिलाओं को बनाया निशाना, 2 को किया निर्वस्त्र, पुलिस ने बचाया

भीड़ ने जब महिलाओं से उनके गांव में आने का कारण पूछा तो एक महिला ने कथित तौर पर कहा कि वह अपने रिश्तेदार को तलाश रही है। जबकि दूसरी ने कहा कि वह अपने रिश्तेदार से मिलने आई है। तीसरी महिला ने कहा कि वह गलियों में घूमकर कपड़े बेचने के लिए आई थी। चौथी ने कहा वह पास के बैंक में आई थी। एक साथ घूम रही चार महिलाओं से चार अलग जवाब सुनकर लोगों को शक हुआ कि ये बच्चा चोर हो सकती हैं।

पुलिस स्‍टेशन मेें आपबीती सुनाती भीड़ से बचाई गई महिलाएं। फोटो- ANI

एक बार फिर भीड़ ने चार महिलाओं की कथित तौर पर बच्चाचोर होने के शक में पिटाई कर दी। ये मामला सोमवार (23 जुलाई, 2018) को पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी में हुआ। पुलिस ने बताया कि भीड़ इस कदर उग्र थी कि दो महिलाओं की कथित तौर पर कपड़े उतारकर भी पिटाई हुई। ये वाकया धुपगुरी ब्लॉक के दावकीमारी गांव में हुआ। ये इस जिले में भीड़ के द्वारा बच्चाचोर होने के शक में किसी को पीटे जाने का चौथा मामला है। पिछले हफ्ते, इसी जिले और ब्लॉक में एक महिला की बच्चा चोर होने के शक में पिटाई की गई थी। बताया गया कि महिला मानसिक रूप से विक्षिप्त भी थी। जलपाईगुड़ी की एसपी अमिताभा मैती ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि चार महिलाएं, जिनकी उम्र 20 से 50 साल के बीच है। ये स्थानीय महिलाएं नहीं थीं इसीलिए भीड़ ने उनकी जमकर पिटाई की थी।

एसपी ने बताया कि भीड़ ने जब महिलाओं से उनके गांव में आने का कारण पूछा तो एक महिला ने कथित तौर पर कहा कि वह अपने रिश्तेदार को तलाश रही है। जबकि दूसरी ने कहा कि वह अपने रिश्तेदार से मिलने आई है। तीसरी महिला ने कहा कि वह गलियों में घूमकर कपड़े बेचने के लिए आई थी। जबकि चौथी ने कहा वह पास के बैंक में आई थी। एक साथ घूम रही चार महिलाओं से चार अलग जवाब सुनकर लोगों को शक हुआ कि ये बच्चा चोर हो सकती हैं। इसके बाद उग्र भीड़ ने चारों की जमकर पिटाई की, जबकि दो अन्य महिलाओं को कथित तौर पर पूरे कपड़े उतारकर पीटा गया।

महिलाओं को पुलिस ने भीड़ से बचाया और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक उपचार के लिए ले गई। जहां उनकी हालत स्थिर बनी हुई है। वहीं बता दें कि इस महीने से पहले मल ब्लॉक के क्रांति क्षेत्र में लोगों ने जमकर पथराव कर दिया था। इस पथराव में कई लोगों को चोटें आईं थीं। ये पथराव इसलिए किया गया था क्योंकि लोगों को शक था कि बच्चा चोरी करने वाले लोग इलाके में घूम रहे हैं।

एसपी ने कहा अभी तक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं की गई है। हालांकि कई लोगों को पहले हुई घटनाओं में पहले गिरफ्तार किया गया है। बच्चा चोरी की ये अफवाहें ऐसे लोग फैला रहे हैं जो जिले की कानून-व्यवस्था को भंग करना चाहते हैं। हम इस संबंध में लोगों को जागरूक करने की कोशिश कर रहे हैं। अगर लोगों को कोई समस्या है तो वह पुलिस से हेल्पलाइन पर संपर्क कर सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App