ताज़ा खबर
 

अब देशभर में छाने वाली है ममता बनर्जी की टीएमसी? बड़ी-बड़ी स्क्रीन पर दिखेंगी बंगाल की सीएम

पश्चिम बंगाल के अलावा तमिलनाडु, दिल्ली, पंजाब, गुजरात, त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश जैसे दूसरे राज्यों में भी दीदी के भाषणों का स्थानीय भाषाओं में प्रसारण किया जाएगा।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी। (Express Photo/Vishal Srivastav)

पश्चिम बंगाल में शानदार जीत दर्ज कर फिर से सीएम की कुर्सी संभालने के बाद ममता बनर्जी अब सूबे से बाहर निकलकर पूरे देश में अपनी पार्टी को फैलाएंगी। इसके लिए पार्टी ममता बनर्जी की तस्वीरों को देश के अलग-अलग हिस्सों में बड़ी-बड़ी स्क्रीनों पर दिखाएगी। सीएम ममता बनर्जी के और भी कई योजनाएं हैं। पार्टी के वरिष्ठ नेता मदन मित्रा ने बताया कि 21 जुलाई को एक वर्चुअल कार्यक्रम के जरिए टीएमसी राष्ट्रीय राजनीति में उतरने जा रही है।

पार्टी की ओर से कार्यक्रम के दौरान त्रिपुरा, असम, ओडिशा, बिहार, पंजाब, यूपी और दिल्ली में बड़ी स्क्रीनें लगाई जाएंगी। साल 2024 में दिल्ली में ममता सरकार होगी। इतनी ही नहीं मदन मित्रा ने यह भी कहा कि साल 2024 के चुनाव में यूपी अहम साबित होगा। उन्होंने यह भी दावा किया कि बीजेपी साल 2022 का विधानसभा चुनाव हारने वाली है। 2024 के चुनाव को ध्यान में रखकर तृणमूल कांग्रेस शहीद दिवस पर अपने सबसे बड़े कार्यक्रम के जरिए अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग भाषाओं में टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी के भाषण का प्रसारण करेगी और देशभर के लोगों तक पहुंचाने की योजना बना रही है।

टीएमसी नेता ने यह भी बताया कि बनर्जी के भाषणों का पश्चिम बंगाल में बड़े पर्दों पर प्रसारित किया जाएगा और पहली बार तमिलनाडु, दिल्ली, पंजाब, गुजरात, त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश जैसे दूसरे राज्यों में भी इसका प्रसारण किया जाएगा। पश्चिम बंगाल में भाषण बंगाली भाषा में प्रसारित किया जाएगा, जबकि अलग-अलग राज्यों में इसका स्थानीय भाषाओं में अनुवाद करके प्रसारित किया जाएगा।

कहा कि पीएम मोदी और अमित शाह के गढ़ गुजरात के कई जिलों में भी ममता बनर्जी के भाषण को बड़े पर्दे पर प्रसारित करने की योजना है। उन्होंने कहा कि मोदी और शाह ने पश्चिम बंगाल में चुनाव के दौरान बीजेपी के अभियान की कमान संभाली थी। अब गुजरात और अन्य राज्यों में दीदी का संदेश फैलाने की हमारी बारी है। पार्टी उत्तर प्रदेश में ऐसे ही कार्यक्रम आयोजित करने की योजना बना रही है। उत्तर प्रदेश में भी अगले साल चुनाव होने हैं।

इस कार्यक्रम से पहले एआईएडीएमके नेता जयललिता की तरह ममता बनर्जी को चेन्नई में अम्मा बताते हुए पोस्टर लगाए गए हैं। टीएमसी दक्षिणी राज्यों में भी अपनी पैठ बनाने की कोशिश कर रही है। ममता बनर्जी 21 जुलाई के कार्यक्रम के बाद नई दिल्ली का भी दौरा करेंगी, जहां वह पुरानी और नई मित्रों से मुलाकात करेंगी। वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और अन्य शीर्ष विपक्षी नेताओं से मुलाकात कर सकती हैं। कुल मिलाकर 21 तारीख टीएमसी के लिए एक बड़ी तारीख साबित होगी।

Next Stories
1 इस्तीफे के बाद फेसबुक पर छलका बाबुल सुप्रियो का दर्द, बोले-खुद के लिए दुखी
2 राजनाथ से लेकर सुषमा तक को देखा, पर नहीं ऐसी बीजेपी… असेंबली में बवाल पर छलका ममता का दर्द
3 वैक्सीन स्कैमः पुरानी फोटो में आरोपी के साथ दिखे गवर्नर तो टीएमसी ने साधा निशाना
यह पढ़ा क्या?
X