ताज़ा खबर
 

बीजेपी बोली- सत्ता में आए तो योगी सरकार की तरह बंगाल में भी कराएंगे एनकाउंटर

पिछले साल उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने 2017 में सत्ता में आने के अपने पहले साल के दौरान 1,142 मुठभेड़ों का उल्लेख किया था, जिसमें 34 लोग मारे गए थे।

Author नई दिल्ली | June 25, 2019 8:14 AM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कहा है कि पश्चिम बंगाल की सत्ता में आने के बाद उत्तर प्रदेश मॉडल की तर्ज पर प्रदेश में अपराधियों का एनकाउंटर होगा। अपराधियों को छोड़ा नहीं जाएगा। भाजपा के प्रदेश महासचिव सायंतन बसु ने सोमवार (24 जून, 2019) को नॉर्थ 24-परगना में कहा, ‘बंगाल की सत्ता में आने के बाद हम पुलिस को सभी अपराधियों को गिरफ्तार करने या उन्हें आत्मसमर्पण करने के लिए 72 घंटे का समय देने के लिए कहेंगे।’ पार्टी के एक अन्य नेता राजू बनर्जी ने भी यही बात दोहराते हुए बांकुरा में कहा, ‘एक बार सत्ता में आने के बाद, हम पुलिस को अपराधियों को गिरफ्तार करने का आदेश देंगे। अगर जरुरत पड़ी तो यूपी मॉडल का अपनाएंगे।’ पिछले साल उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने 2017 में सत्ता में आने के अपने पहले साल के दौरान 1,142 मुठभेड़ों का उल्लेख किया था, जिसमें 34 लोग मारे गए थे।

वहीं बंगाल भाजपा नेताओं के बयानों पर प्रदेश की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कड़ी निंदा की है। टीएमसी नेता और कोलकाता मेयर फिरहाद हकीम ने भी भाजपा को खून की राजनीति करने वाली पार्टी करार दिया। उन्होंने कहा, ‘भाजपा गुजरात और उत्तर प्रदेश की तरह बंगाल में भी खून की राजनीति करने की कोशिश में है। बंगाल की जनता इनके बारे में अच्छी तरह से जानती है। जनता उन्हें मौका नहीं देगी।’ वहीं टीएमसी नेता तापस राय ने भाजपा नेताओं के बयानों की आलोचना करते हुए कहा कि पार्टी (भाजपा) लोगों को जान से मारने की बात करती है। हम बंगाल को गुजरात और उत्तर प्रदेश नहीं बनने देंगे।

बता दें कि हाल ही में संपन्न लोकसभा चुनावों में, भाजपा ने राज्य की 42 सीटों में से 18 सीटें जीतीं। जबकि साल 2014 के चुनावों में पार्टी केवल दो सीटें जीतने में कामयाब रही। 2019 में पार्टी का वोट शेयर भी बढ़कर 40.25 फीसदी तक जा पहुंचा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App