ताज़ा खबर
 

मीटिंग में मोदी के राज्य का जिक्र सुनकर भड़कीं ममता, अफसर को फटकार- आपको गुजरात से चरखा लाने किसने कहा

दरअसल, यह अफसर 'मुसलीन तीर्थ' प्रोजेक्ट की प्रगति को लेकर सीएम के सवालों का जवाब दे रहे थे।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी। (इंडियन एक्सप्रेस फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल खादी एवं ग्रामीण उद्योग बोर्ड के एक अफसर को सूबे की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के गुस्से का सामना करना पड़ा। बुधवार को नादिया में प्रशासनिक समीक्षा बैठक में इस अफसर ने ममता बनर्जी के सामने पीएम नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात का जिक्र कर दिया, जो ममता को नागवार गुजरा। दरअसल, यह अफसर ‘मुसलीन तीर्थ’ प्रोजेक्ट की प्रगति को लेकर सीएम के सवालों का जवाब दे रहे थे। इस प्रोजेक्ट के तहत राज्य सरकार की ओर से इस पारंपरिक कपड़े को लेकर एक बिजनेस हब का निर्माण करवाया जा रहा है। द टेलिग्राफ में छपी खबर के मुताबिक, जिला खादी अधिकारी ए मंडल ने कहा, ‘मैडम, अपने गुजरात से कुछ चरखे खरीदे हैं। हम बुनकरों के लिए ट्रेनिंग की व्यवस्था कर रहे हैं।’

रिपोर्ट के मुताबिक, जवाब सुनते ही ममता नाराज दिखीं और अफसर की बात काटते हुए कहा, ‘आपको गुजरात से चरखा लेने के लिए किसने बोला है? यहां क्या चरखा नहीं मिलता?’ इस पर अफसर खामोश रहे। सूत्रों के मुताबिक, यह पहली बार नहीं है, जब गुजरात का जिक्र सुनकर ममता भड़की हों। वह बंगाल और गुजरात के बीच किसी तरह की तुलना पसंद नहीं करतीं। तृणमूल के एक सूत्र के मुताबिक, ‘उनका मानना है कि कथित गुजरात मॉडल की हर चीज फर्जी है और यह मॉडल खुद में ढकोसला है। वह सामान्य बातचीत में भी गुजरात का जिक्र किए जाने से नफरत करती हैं।’

हालांकि, एक अफसर ने बताया कि गुजरात से लाए गए चरखे बंगाल में उपलब्ध नहीं थे। यह खास तौर पर हाथ से तैयार किए गए हैं। इनको बनाने में उच्च गुणवत्ता वाले बांस का इस्तेमाल किया गया है। वहीं, बोर्ड के चेयरमैन गौरीशंकर दत्ता ने कहा, ‘ऐसे किसी फैसले की मुझे जानकारी नहीं है।’ बता दें कि पीएम मोदी और ममता बनर्जी की राजनीतिक तल्खी किसी से छिपी नहीं है। ममता अपने राजनीतिक कार्यक्रमों में बीजेपी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और पीएम नरेंद्र मोदी पर गाहे बगाहे निशाना साधते ही रहती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App