ताज़ा खबर
 

घर के लिए कंस्ट्रक्शन का सामान नहीं खरीदने पर नेताजी सुभाष चंद बोस के परिवार को मिल रही धमकियां

सांसद की शिकायत के बाद बालीगंज पुलिस ने छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किए गए सभी युवक लेबर कॉन्ट्रैक्टर हैं।

सुगाता ने कहा कि अगर यह हमारे साथ हो रहा है तो और लोगों के साथ तो हमसे भी ज्यादा हो रहा होगा।

नेताजी सुभाष चंद्र बोस के पोते और जादवपुर से टीएमसी सांसद सुगाता बोस ने कुछ लोगों पर उन्हें धमकाने का आरोप लगाया है। सोमवार (3 जुलाई) को बाइक पर आए कुछ लड़कों ने शरत बोस रोड पर सुगाता बोस के घर उनकी मां और पूर्व सांसद कृष्णा बोस को उनसे कंस्ट्रक्शन का सामान नहीं खरीदने पर अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहने की धमकी दी थी। इसकी शिकायत सांसद ने पुलिस में की। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक सांसद की शिकायत के बाद बालीगंज पुलिस ने छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किए गए सभी युवक लेबर कॉन्ट्रैक्टर हैं और माल सप्लाई करने का काम करते हैं। पूछताछ के दौरान इस ग्रुप के दो लीडर राजू और बलराम ने पॉलिटिकल कनेक्शन होने की बात कबूल की है। इसके साथ एक रेलवे कर्मचारी का नाम लिया है। रेलवे कर्मचारी को पॉलिटिकल पार्टी के नजदीक बताया जा रहा है। उन्होंने बताया कि उसी रेलवे कर्मचारी के कहने पर वे सांसद के घर गए थे। सूत्रों मुताबिक इस मामले में रेलवे कर्मचारी से पूछताछ की जा सकती है।

सोमवार को दोपहर करीब 1:30 बजे मोटरसाइकिलों पर 10-12 युवक आए और सुगाता बोस के दो मंजिला मकान में घुस गए। यहीं नेताजी सुभाष चंद्र बोस के पोते और पूर्व सासंद शिशर बोस का चेंबर भी है। सुगाता बोस के मुताबिक घर में घुसकर इन लोगों का सामना उनकी 86 वर्षीय मां से हुआ। उन्होंने बताया, ‘इन लोगों ने मां से पूछा कि बिना उनसे सामान खरीदे रेनॉवेशन का काम कैसे कराया जा रहा है।’ बोस ने यहां के माफियाओं का एक पुराना नियम तोड़ा है। दरअसल सुगाता बोस के परिवार ने इलाके में सक्रिय बिल्डिंग माफिया से न तो ईंटें खरीदीं और न ही रोड़ी, बदरपुर और अन्य सामान खरीदा है।

अस्सी साल की उनकी मां ने लड़कों को चेतावनी दी थी कि वह एक सांसद के घर में अतिक्रमण कर रहे हैं। इस घटना के बाद सुगाता ने साउथ कोलकाता के एमपी सुभारता बक्शी को सहायता के लिए बुलाया। इस घटना से सुगाता की मां कृष्णा डरी हुई हैं और बरसों से जिस घर में रही हैं, वहां खुद को महफूज नहीं समझ रहीं। वह कहती हैं कि उन्होंने ऐसा नहीं सोचा था कि वही घर उन्हें डराएगा, जहां वह बरसों से रह रही हैं। सुगाता ने कहा कि अगर यह हमारे साथ हो रहा है तो और लोगों के साथ तो हमसे भी ज्यादा हो रहा होगा।

Next Stories
1 न तो गोरखालैंड की राह आसान और न ही अमन की
2 आरजे ने अल्लाह से की अब्बा की तुलना, सोशल मीडिया पर हुए ट्रोल
3 गुजरात: तीसरे मोर्चे के गठन की तैयारी में वाघेला, कांग्रेस छोड़कर राकांपा और जद (एकी) का साथ पकड़ सकते हैं राह
ये पढ़ा क्या?
X