ताज़ा खबर
 

पश्चिम बंगालः पुलिस व अभिभावकों का सिरदर्द बनता मोमो चैलेंज

ब्लू व्हेल के बाद अब एक और खतरनाक ऑनलाइन खेल मोमो चैलेंज ने राज्य में पुलिस-प्रशासन और अभिभावकों के लिए नया सिरदर्द पैदा कर दिया है।

पश्चिम बंगाल में कम से कम दो हत्याओं के लिए इसी खेल को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है।

ब्लू व्हेल के बाद अब एक और खतरनाक ऑनलाइन खेल मोमो चैलेंज ने राज्य में पुलिस-प्रशासन और अभिभावकों के लिए नया सिरदर्द पैदा कर दिया है। पश्चिम बंगाल में कम से कम दो हत्याओं के लिए इसी खेल को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। इन दोनों मौतों और कई अन्य लोगों को इसका न्योता मिलने के बाद राज्य सरकार ने इस खतरनाक खेल पर अंकुश लगाने की दिशा में ठोस पहल की है। राज्य में ऐसे कम से कम दो मामले सामने आए हैं जिनमें एक युवक और एक युवती ने संभवत: मोमो चैलेंज के कारण आत्महत्या कर ली। राजधानी कोलकाता की एक कामकाजी महिला को भी वॉट्सऐप के जरिए इसका न्योता भेजा गया है। इसी तरह जलपाईगुड़ी जिले की एक छात्रा को इस खेल को खेलने का न्योता मिला था। इन दोनों ने साइबर सेल में शिकायत की है।

मोमो चैलेंज का न्योता मिलने के बाद हाल में दो लोगों की मौत से सतर्क पश्चिम बंगाल सरकार अब इस खतरे से निपटने के लिए ऐहतियाती कदम उठा रही है। दार्जिलिंग जिले के कर्सियांग में मनीष सारकी (18) और अदिति गोयल (26) ने क्रमश: 20 और 21 अगस्त को आत्महत्या कर ली थी। पुलिस को संदेह है कि यह दोनों मोमो चैलेंज खेल में फंसे थे। पश्चिम बंगाल सरकार के गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी बताते हैं कि तमाम जिलों में स्थित थानों को जरूरी निर्देश भेजने के साथ ही प्रशासन ने शैक्षणिक संस्थानों से भी छात्रों के व्यवहार में आने वाले किसी बदलाव का ध्यान रखने को कहा है। उनका कहना था कि मोमो चैलेंज में लगातार तेजी आ रही है। ब्लू व्हेल के बाद अब मोमो गेम चैलेंज का खतरा गंभीर हो रहा है। इस ऑनलाइन खेल का लिंक वॉट्सऐप के जरिए भेजा जा रहा है।

बीते 21 अगस्त को जलपाईगुड़ी की कविता राई को भी मौत का यह खेल खेलने का न्योता मिला था। उसने इस बारे में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। महानगर में एक आइटी पेशेवर और एक बच्चे की मां ने भी ऐसा ही न्योता मिलने के बाद कोलकाता पुलिस के साइबर सेल में शिकायत दर्ज कराई है। महिला राजश्री उपाध्याय बताती हैं कि उसने अपने दोस्त की सलाह पर इस न्योते का कोई जवाब नहीं दिया था। वह इस खेल के खतरों के बारे में जानती हैं। इसलिए उसने फौरन पुलिस को इसकी सूचना दे दी।

राज्य सरकार ने इस खतरे से निपटने के लिए साइबर विशेषज्ञों से भी सहायता मांगी है। इसके साथ ही क्या करें और क्या न करें, की एक सूची भी तैयार कर तमाम जिलों में भेजी गई है। साइबर विशेषज्ञों का कहना है कि ई-मेल खातों और सोशल नेटवर्किंग साइटों का पासवर्ड नियमित अंतराल पर बदलना जरूरी है। अगर किसी को कहीं से कोई संदिग्ध लिंक मिलता है तो उस नंबर को फौरन ब्लाक कर देना चाहिए।

क्या है मोमो चैलेंज

इन दिनों वॉट्सऐप पर एक नंबर काफी वायरल हो रहा है, जिसे मोमो वॉट्सऐप चैलेंज भी कहा जा रहा है। इस गेम में सोशल मीडिया पर एक कांटैक्ट शेयर किया जा रहा है, जिसका कंट्री कोड जापान का है। जैसे ही यूजर इस कांटैक्ट को मोबाइल में सेव करता है तो एक बड़ी आंख वाली लड़की की फोटो भी आती है। फोटो काफी डरावनी है। यह भी दावा किया जा रहा है कि जो इस प्रोफाइल नंबर से बात करता है तो वह आत्महत्या करने के लिए अग्रसर होता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App