ताज़ा खबर
 

कोलकाता: अबेश की मां ने ममता से मिलकर मांगा इंसाफ, पुलिस हत्या की बात को कर चुकी है खारिज

अबेश के परिवार ने यह बात मानने से इनकार कर दिया है कि उसकी मौत के पीछे कोई साजिश नहीं थी और दावा कर रहे हैं कि यह एक हत्या का मामला है।

Author कोलकाता | July 29, 2016 5:38 PM
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

पुलिस द्वारा अबेश दास गुप्ता की मौत के मामले में हत्या की बात को खारिज करने के एक दिन बाद उसकी मां ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से इंसाफ पाने के लिए मुलाकात की और कहा कि उन्होंने उन्हें मदद का आश्वासन दिया है। अबेश की मां रिमझिम दासगुप्ता ने मुलाकात के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘ मुख्यमंत्री ने हमने से उनमें विश्वास रखने को कहा है। उन्होंने हमें आश्वस्त किया है कि सच सामने आएगा। उन्होंने कहा कि अपराधियों की तलाश की जाएगी।’’

अपने परिवार के अन्य सदस्यों के साथ मुख्यमंत्री से मुलाकात करने वाली रिमझिम ने कहा, ‘‘ मैंने उन्हें बताया कि कई सवाल अब भी ऐसे हैं जिनके जवाब नहीं मिले हैं।’’
रिमझिम ने कल कोलकाता के संयुक्त पुलिस आयुक्त :अपराध: विशाल गर्ग से मुलाकात की थी। उन्होंने कहा, ‘‘ गर्ग ने मुझे बताया था कि मामले की जांच अब भी चल रही है। कई जांचों को अभी पूरा किया जाना है। उन्होंने मुझे सीसीटीवी फुटेज पर अवगत कराने के लिए बुलाया था।’’ उन्होंने कहा कि सीसीटीवी फुटेज में उस दिन का पूरा घटनाक्रम नहीं है।

HOT DEALS
  • BRANDSDADDY BD MAGIC Plus 16 GB (Black)
    ₹ 16199 MRP ₹ 16999 -5%
    ₹1620 Cashback
  • Sony Xperia XZs G8232 64 GB (Warm Silver)
    ₹ 34999 MRP ₹ 51990 -33%
    ₹3500 Cashback

गर्ग ने कल मामले में हत्या होने की बात को खारिज करते हुए कहा था कि 17 वर्षीय युवक की मौत 23 जुलाई को सन्नी पार्क आवासीय कॉम्प्लेस के लॉन की एक छोटी दीवार से गिरने से उसे लगी चोट के कारण हुई थी ।’’  गर्ग के मुताबिक, परिसर की सीसीटीवी फुटेज, परिस्थितिजन्य साक्ष्यों और जन्मदिन के कार्यक्रम में मौजूद लोगों, सुरक्षा गार्डों और अन्य सहित गवाहों के बयानों के अनुसार पुलिस अधिकारी की राय यह है कि अबेश की मौत के पीछे कोई ‘‘साजिश’’ नहीं थी। हालांकि अबेश के परिवार ने यह बात मानने से इनकार कर दिया है कि उसकी मौत के पीछे कोई साजिश नहीं थी और दावा कर रहे हैं कि यह एक हत्या का मामला है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App