ताज़ा खबर
 

भक्तों ने मां दुर्गा पर चढ़ाई 20 किलो सोने से बनी साड़ी, बनाने में लगे ढाई महीने

कोलकाता की दो दिग्गज पूजा समितियों ने देवी दुर्गा की प्रतिमा को भारी भरकम सोने के गहनों से सजाया है।
श्रीभूमि स्पोर्टिंग क्लब ने देवी को सोने का मुकुट पहनाया है वहीं संतोष मित्रा स्क्वायर पूजा समिति ने देवी दुर्गा को सोने के तारों से बनी साड़ी पहनाई है।

कोलकाता की दो दिग्गज पूजा समितियों ने देवी दुर्गा की प्रतिमा को भारी भरकम सोने के गहनों से सजाया है। श्रीभूमि स्पोर्टिंग क्लब ने देवी को सोने का मुकुट पहनाया है वहीं संतोष मित्रा स्क्वायर पूजा समिति ने देवी दुर्गा को सोने के तारों से बनी साड़ी पहनाई है। देवी को स्वर्ण आभूषणों से सजाने वाले आभूषण की दुकान के अधिकारी ने बताया कि श्रीभूमि स्पोर्टिंग क्लब में सोने और चांदी के महीन तारों का काम झलकता है। सभी देवताओं के मुकुट को योद्धाओं के मुकुट से मिलता जुलता बनाया गया है और पंडाल ‘बाहुबली’ थीम पर आधारित है। श्रीभूमि ने इस साल अपने पंडाल के लिए यही थीम चुनी है। उन्होंने कहा कि कंपनी के कारीगर इन आभूषणों पर दो महीने से अधिक समय से काम कर रहे थे। संतोष मित्रा स्क्वायर में देवी दुर्गा को सोने के तारों वाली साड़ी पहनायी गई है।

देवी और उनकी संतान के लिए परिधान डिजाइन करने वाली फैशन डिजाइनर अग्निमित्रा पॉल ने कहा कि देवी दुर्गा की साड़ी पूरी तरह से सोने की बनी है। इसमें प्रतिष्ठित आभूषण ब्रांड के कारीगरों ने जरी का काम किया है। पॉल ने आगे कहा कि इस खूबसूरत साड़ी को बनाने के लिए 20 किलोग्राम से अधिक सोने का इस्तेमाल किया गया है। साड़ी पर फूलों, पशु-पक्षियों की आकृतियों में कढ़ाई की गई है। इसमें मीनाकारी का भी काम किया गया है। उन्होंने बताया कि ढाई महीने से अधिक समय तक कलाकारों ने काम करके उनके दृष्टिकोण को हकीकत का रूप दिया। उन्होंने बताया कि हालांकि अन्य देवताओं और महिषासुर के परिधान सामान्य थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.