ताज़ा खबर
 

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी से मिलीं मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां, सुनाया दुखड़ा

"आज मैं हाथ जोड़कर आदरणीय मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से कहना चाहती हूं कि मैंडम मेरी लड़ाई सच्चाई के लिए है, मुझे सताया गया है, मेरी कोई गलती नहीं है, मैं आपसे सपोर्ट नहीं चाहती हूं, मैं सिर्फ अपील करती हूं कि सच्चाई के लिए मेरी इस जंग पर आप निगाहें बनाये रखें।"

क्रिकेटर मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां। (फोटो सोर्स- एएनआई)

क्रिकेटर मोहम्मद शमी पर मैच फिक्सिंग, विवाहेत्तर संबंध रखने का आरोप लगाने वाली उनकी पत्नी हसीन जहां ने शुक्रवार (23 मार्च) को कोलकाता में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की। हसीन जहां ने सीएम से मिलकर उन्हें अपना दुखड़ा सुनाया और उनसे इंसाफ की गुहार लगाई। हसीन जहां ने सोमवार (19 मार्च) को सीएम आवास पर जाकर उनसे मुलाकात करने की अर्जी दी थी। मंगलवार को हसीन जहां को बताया गया कि वह 23 मार्च को उनसे मुलाकात करेंगी। हसीन जहां ने 21 मार्च को कहा था कि वह सच्चाई के लिए लड़ रही है। हसीन जहां ने कहा था, “आज मैं हाथ जोड़कर आदरणीय मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से कहना चाहती हूं कि मैंडम मेरी लड़ाई सच्चाई के लिए है, मुझे सताया गया है, मेरी कोई गलती नहीं है, मैं आपसे सपोर्ट नहीं चाहती हूं, मैं  सिर्फ अपील करती हूं कि सच्चाई के लिए मेरी इस जंग पर आप निगाहें बनाये रखें। आप कृपया हमसे मिलिए और फिर तय कीजिए कि क्या किया जाना चाहिए।”

मोहम्मद शमी-हसीन जहां विवाद में हसीन जहां के पूर्व पति की बेटी का क्या है खुलासा जानने के लिए यहां क्लिक करें।

बता दें कि पत्नी द्वारा मैच फिक्सिंग के आरोपों को सामना कर रहे मोहम्मद शमी को उस समय बड़ी राहत मिली जब बीसीसीआई की भ्रष्टाचार निरोधक इकाई( एसीयू) ने उन्हें भ्रष्टाचार के आरोपों से दोषमुक्त करार दे दिया और इसके बाद बोर्ड ने उनके केंद्रीय अनुबंध को मंजूरी दे दी। बीसीसीआई ने इससे पहले हसीन जहां के आरोपों के मद्देनजर शमी का अनुबंध रोके रखने का फैसला किया था। शमी पर उनकी पत्नी ने व्यभिचार और घरेलू हिंसा का आरोप लगाया था और उनके खिलाफ शिकायत दर्ज करायी थी। शमी ने सभी आरोपों का खंडन किया था। प्रशासकों की समिति (सीओए) ने विशेष तौर पर एसीयू के अपने प्रमुख नीरज कुमार से इन आरोपों की जांच करने के लिये कहा था कि इस गेंदबाज ने पाकिस्तानी महिला अलिश्बा के जरिये किसी मोहम्मद भाई से पैसे लिये थे।

बीसीसीआई से क्लीनचिट मिलने के बाद शमी ने कहा, ‘‘मुझे पर बहुत ज्यादा दबाव था लेकिन बीसीसीआई से क्लीनचिट मिलने के बाद मैं राहत महसूस कर रहा हूं। मैं अपने देश के प्रति अपनी वफादारी और प्रतिबद्धता पर सवाल किए जाने से दुखी था। लेकिन मेरा बीसीसीआई की जांच प्रक्रिया में पूरा भरोसा था। मैं मैदान में वापसी करने को लेकर उत्साहित हूं।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App