ताज़ा खबर
 

सुरक्षा का वचन दो और मुफ्त में गाय लो

ऐसे पोस्टर जिल के तमलुक इलाके में डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्मृति युवा संघ की ओर से लगाए हैं। युवा संघ ने गांव के करीब सात सौ लोगों को मुफ्त में गाय दी भी हैं।
Author कोलकाता | August 3, 2017 04:15 am
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। फोटो सोर्स- यूट्यूब

शंकर जालान  

पश्चिम बंगाल के पूर्व मेदिनीपुर जिले में कई जगह ऐसे पोस्टर दिख रहे हैं, जिन पर लिखा है- सुरक्षा का वचन दो और मुफ्त में गाय लो। ऐसे पोस्टर जिल के तमलुक इलाके में डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्मृति युवा संघ की ओर से लगाए हैं। युवा संघ ने गांव के करीब सात सौ लोगों को मुफ्त में गाय दी भी हैं। संघ के अध्यक्ष मिलन कुमार मंडल ने जनसत्ता को बताया कि वे उन्हीं लोगों को मुफ्त में गाय देते हैं, जो सुरक्षा की गारंटी देते हैं। मंडल के मुताबिक जिन लोगों को मुफ्त में गाय दी जाती है उनका पूरा नाम, पता, फोन नंबर संघ के खाते में दर्ज किया जाता है। मंडल ने बताया कि उनकी संस्था का मुख्य मकसद गाय की रक्षा और सुरक्षा है। उन्होंने बताया कि वे निजी वाहनों से उत्तर चौबीस परगना जिले के संतोषपुर थाना इलाके स्थित सुरभि सदन गोशाला से मुफ्त में गाय लाते हैं और फिर जिलों के लोगों को बांटते हैं।

भल ही डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्मृति युवा संघ का अभियान गोरक्षा और गोसुरक्षा के नाम पर चलाया जा रहा हो, लेकिन सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस की सरकार इस अभियान से चक्कर में पड़ गई है। इसलिए राज्य सरकार ने जिला प्रशासन को मामले की छानबीन करने का कहा है। सुरभि सदन गोशाला आप लोगों को मुफ्त में गाय क्यों दे रही है, इसके जवाब में संघ के एक अन्य सदस्य ने बताया कि हर गोशाला की गाय रखने की एक क्षमता होती है। वहां करीब छह सौ गाय रखी जा सकती हैं। वहां गाय अधिक होने से वे लोग हमें गाय देते हैं। हम निजी वाहन खर्च पर वहां से यहां गाय लाते हैं और शिविर लगाकर गांव के लोगों को इस वचन के साथ मुफ्त में दे देते हैं कि उन्हें हर हाल में गाय की सुरक्षा करनी है।
इस बाबत सुरभि सदन गोशाला ने संस्थापक सदस्य व ट्रस्टी श्रीकांत शर्मा ने बताया कि उनके यहां लोग गाय दान करने आते हैं। गोशाला में गाय की संख्या अधिक होने पर वे पूरी लिखा-पढ़ी के साथ युवा संघ को सशर्त गाय देते हैं।वहीं, जिले के पुलिस अधीक्षक आलोक राजौरिया ने कहा कि संघ के सदस्य अगर अच्छा काम कर रहे हैं उन्हें डरने की जरूरत नहीं है। प

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.