scorecardresearch

बीजेपी के पास 2024 में मोदी हैं, विपक्ष के पास कौन चेहरा होगा? इस सवाल पर भड़क गईं ममता बनर्जी, बोलीं, क्‍या वो भगवान हैं

India Today Conclave में उनका कहना था कि हमें पिछली बातों को याद नहीं रखना चाहिए। लोग बदला लेंगे। वो बुल्डोजर बनकर ताकत के गलत उपयोग का बदला लेंगे।

Mamata reappoints nephew Abhishek Banerjee| TMC| West Bengal Politics
भतीजे अभिषेक बनर्जी के साथ पश्विम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी। (PTI, File)

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी का कहना है कि 2024 के चुनाव में लोग प्रोटेस्ट के लिए वोट करेंगे। लोग बीजेपी को सत्ता से बाहर करने के लिए अपने मतदान के अधिकार का इस्तेमाल करेंगे। एंकर राजदीप सरदेसाई ने जब उनसे पूछा कि बीजेपी के पास 2024 में मोदी हैं। विपक्ष के पास कौन चेहरा होगा? इस सवाल पर ममता भड़क गईं। उनका सवाल था कि क्‍या वो भगवान हैं।

ममता का कहना था कि मोदी देश के पीएम हैं। लेकिन आज बड़ा सवाल हैं कि देश की अर्थव्यवस्था गड्ढे में जा चुकी है। 1 लाख उद्यमी देश छोड़कर जा चुके हैं। पीएम केयर फंड के नाम पर बड़ा गोलमाल किया गया। लोगों को अपने सवालों का जवाब किया गया। उनका कहना था कि 2024 के चुनाव में लोग सरकार के चुनाव के लिए वोट नहीं करने जा रहे हैं।

India Today Conclave में उनका कहना था कि हमें पिछली बातों को याद नहीं रखना चाहिए। लोग बदला लेंगे। वो बुल्डोजर बनकर ताकत के गलत उपयोग का बदला लेंगे। अगला चुनाव भाजपा और लोगों के बीच होगा। ममता का कहना था कि लोग बारीकी से सारी चीजों को देख रहे हैं वो माकूल जवाब देंगे।

राजनीति में परिवारवाद पर उनका कहना था कि अगर नए लोग राजनीति में आते हैं तो इसमें बुराई क्या है। युवाओं को राजनीति में आना चाहिए। भाजपा के परिवारवाद के आरोप पर ममता बनर्जी ने कहा कि अभिषेक बनर्जी के जीतने पर लोगों को बुरा क्यों लगता है। वो दो बार जीत कर आए हैं तो इसमें बुरा क्या है। हमें नए लोगों को राजनीति में लाना चाहते हैं। उनका कहना था कि बीजेपी अमित शाह के बेटे जय शाह पर क्यों नहीं बोलती। वो बीसीसीआई में कैसे हैं। इनके लिए परिवारवाद का मतलब केवल वर्कर्स के लिए ही है।

विपक्ष मुक्त भारत के सवाल पर ममता ने कहा कि मैंने राजीव गांधी, नरसिंहाराव, देवगौड़ा, अटल बिहारी और मनमोहन सिंह के साथ काम किया है। कई सरकारें देखी हैं लेकिन कभी इस तरह की विंडिक्टिव सरकार नहीं देखी। इन्होंने महाराष्ट्र के लिए अपनी पावर का गलत उपयोग किया है। भाजपा को क्यों जल्दी है। महाराष्ट्र सरकार को मनी, ईडी, सीबीआई पावर से गिरा दिया। यह अनएथिकल सरकार है। उन्होंने गवर्नमेंट जीती है पर लोगों का दिल नहीं जीता है।

ममता का कहना था कि शिंदे सरकार जल्दी गिर जाएगी। ध्यान रहे कि राकांपा चीफ शरद पवार ने भी कहा कि एकनाथ शिंदे की सरकार ज्यादा दिनों तक नहीं चलेगी। 6 महीने में ही गिर जाएगी। मिड टर्म इलेक्शन की तैयारी सभी लोग कर लें।

पढें कोलकाता (Kolkata News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X