ताज़ा खबर
 

पश्चिम बंगाल बीजेपी चीफ की तृणमूल कांग्रेस को धमकी- खाली हाथों से तोड़ सकते हैं कंधा

दिलीप घोष ने कहा, ‘हमें नहीं उकसाएं। हम आपको चेतावनी देते हैं। मैं दरवाजा बंद कर दूंगा और आपकी पिटाई करूंगा। लड़के आरएसएस से प्रशिक्षित हैं और तैयार हैं। आपका कंधा तोड़ दिया जाएगा।’

Author कोलकाता | May 29, 2016 8:34 PM
भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष। (पीटीआई फाइल फोटो)

भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने यह कहकर तूफान पैदा कर दिया है कि उनकी पार्टी के कार्यकर्ता आरएसएस से प्रशिक्षित हैं और वो खाली हाथ भी तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं का कंधा तोड़ सकते हैं। इसको लेकर सत्तारूढ़ दल, कांग्रेस और वाम दलों ने आलोचना की है। एकबार फिर विवाद पैदा करते हुए उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ता हिंसा रोकें, अपना तरीका सुधारें या जब बंगाल के बाहर यात्रा करें तो परिणाम भुगतें। घोष ने खड़गपुर में एक रैली में कहा, ‘वो जो चाहते हैं वो नहीं कर सकते हैं और बिना कारण के हमारे कार्यकर्ताओं को नहीं पीट सकते हैं। तृणमूल कांग्रेस सोचती है कि वो जो भी चाहते हैं वो कर सकते हैं। लेकिन उन्हें एक बात याद रखनी चाहिए कि बंगाल के बाहर सिर्फ भाजपा और भाजपा है।’

उन्होंने कहा, ‘अगर उनके (तृणमूल कांग्रेस के) 211 विधायक हैं तो हमारे पूरे भारत में 1000 से अधिक विधायक और सांसद हैं। अगर वो बंगाल से बाहर निकलते हैं तो हम उन्हें सबक सिखाएंगे। उनके परिवार के सदस्यों को अपने घरों से बाहर जाने पर उनके नाम को लाल रंग से घेर लेना चाहिए।’ उन्होंने शुक्रवार (27 मई) को कहा, ‘हमें नहीं उकसाएं। हम आपको चेतावनी देते हैं। मैं हस्तक्षेप नहीं करता हूं लेकिन अगर आप मुझे उकसाएंगे, तो मैं अच्छा नहीं रहूंगा। मैं आपको चेतावनी देता हूं कि कोई खुशी नहीं रहेगी। मैं पहले पानी की आपूर्ति काटूंगा, उसके बाद बिजली और मैं दरवाजा बंद कर दूंगा और आपकी पिटाई करूंगा। हम सबकुछ में सक्षम हैं। लड़के आरएसएस से प्रशिक्षित हैं और तैयार हैं। आपका कंधा तोड़ दिया जाएगा।’

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 24790 MRP ₹ 30780 -19%
    ₹4000 Cashback
  • Micromax Bharat 2 Q402 4GB Champagne
    ₹ 2998 MRP ₹ 3999 -25%
    ₹300 Cashback

घोष ने कहा कि उन्हें सिर्फ 11 अंक डायल करने हैं। उन्होंने कहा, ‘आपकी हवाई अड्डे से आपके घर तक पिटाई की जाएगी। तब घर से अस्पताल तक। कोई भी आपको नहीं पाएगा। आपके परिवार को व्हाट्स ऐप पर फोटोग्राफ के साथ सूचित किया जाएगा।’ घोष ने रविवार (29 मई) को कहा, ‘क्यों मैं इस तरह की टिप्पणी नहीं कर सकता हूं। अगर मेरे कार्यकर्ताओं पर हमला किया जाता है तो उनकी रक्षा करने का मुझे पूरा अधिकार है। तृणमूल को तत्काल एक सार्वजनिक अपील करके हिंसा रोकनी चाहिए।’ उन्होंने कहा कि असम में भाजपा ने विधानसभा चुनाव जीता लेकिन किसी भी विपक्षी कार्यकर्ता को छुआ नहीं गया। बंगाल में रक्तपात चल रहा है। उन्होंने कहा कि अगर तृणमूल कांग्रेस ने हिंसा नहीं रोकी तो तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बच्चे अनाथ हो जाएंगे।

भाजपा नेता को इससे पहले तृणमूल कांग्रेस पर उनके विवादास्पद बयान के लिए आलोचना का सामना करना पड़ा था। उन्हें यादवपुर विश्वविद्यालय में छात्राओं के एक वर्ग पर टिप्पणी करने के लिए भी आलोचना का सामना करना पड़ा था। घोष की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए तृणमूल कांग्रेस के उपाध्यक्ष मुकुल रॉय ने कहा, ‘यह बिल्कुल अस्वीकार्य है। हम संसद के दोनों सदनों को लिखेंगे। ये टिप्पणियां सिर्फ साबित करती हैं कि कौन पीड़ित है और कौन अपराधी।’

राज्य के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री शशि पांजा ने कहा कि अब एक भाजपा नेता है जो दिन ब दिन महिलाओं पर या तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की पिटाई करने की धमकी देता है। उन्होंने कहा, ‘यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। इस तरह की राजनीति नहीं करनी चाहिए।’ उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में कोई जीतता है तो कोई हारता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App