Bhartiya janta party BJP worker in Bengal found hanging, note left on body, aaj tum maare gye - Jansatta
ताज़ा खबर
 

पश्चिम बंगाल: पेड़ से झूलती मिली बीजेपी कार्यकर्ता की लाश, टीशर्ट पर लिख दिया- आज तुम मारे गए

उसकी लाश सुपुरदी गांव में एक पेड़ से झूलती हुई मिली। पुलिस को मौके से एक नोट भी मिला, जिस पर बंगाली में एक संदेश लिखा था। इसमें लिखा था, '18 साल की उम्र में तुम बीजेपी की राजनीति कर रहे हो, आज तुम मारे गए।'

Author May 31, 2018 12:42 PM
तृणमूल कांग्रेस ने आरोपों को सिरे से खारिज किया है। तृणमूल ने कहा कि महतो की मौत के पीछे बीजेपी के अंदर चल रहा टकराव ही कारण है। (Photo: Twitter)

पश्चिम बंगाल के पुरुलिया जिले के बलरामपुर में ग्रामीण निकाय चुनाव में बीजेपी को मिली कामयाबी के कुछ दिन बाद ही 18 साल के त्रिलोचन महतो की लाश पेड़ पर झूलती हुई मिली है। बीजेपी का कहना है कि त्रिलोचन पार्टी की यूथ विंग का सदस्य था। उसकी लाश सुपुरदी गांव में एक पेड़ से झूलती हुई मिली। पुलिस को मौके से एक नोट भी मिला, जिस पर बंगाली में एक संदेश लिखा था। इसमें लिखा था, ’18 साल की उम्र में तुम बीजेपी की राजनीति कर रहे हो, आज तुम मारे गए।’ पुलिस के मुताबिक, यही संदेश उसकी टीशर्ट पर भी लिखा मिला।

मामला सामने आने के कुछ घंटों बाद बीजेपी ने राज्य की सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस पर कार्यकर्ता की हत्या का आरोप लगाया। बीजेपी जिलाध्यक्ष विद्यासागर चक्रवर्ती ने कहा, ‘राजनीति में इस तरह की गंदी हरकत तृणमूल के अलावा कोई नहीं कर सकता। हम इसके खिलाफ लड़ेंगे। महतो बीजेपी यूथ विंग के सदस्य था और पंचायत चुनाव में काफी सक्रिय रहा था।’ वहीं, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने ट्वीट करके कहा, ‘पश्चिम बंगाल के बलरामपुर में हमारे युवा कार्यकर्ता त्रिलोचन महतो की निर्मम हत्या से काफी आहत हूं। राज्य सरकार की शह पर एक संभावनाओं से भरे जीवन को निर्दयता से खत्म कर दिया गया। उसे पेड़ पर इसलिए फांसी दे दी गई क्योंकि उसकी विचारधारा राज्य सरकार के प्रायोजित गुंडों से अलग थी।’

वहीं, तृणमूल कांग्रेस ने आरोपों को सिरे से खारिज किया है। तृणमूल ने कहा कि महतो की मौत के पीछे बीजेपी के अंदर चल रहा टकराव ही कारण है। बलरामपुर के तृणमूल विधायक शांतिराम महतो ने कहा, ‘पंचायत चुनावों के बाद बीजेपी में काफी गुटबाजी सामने आई। असुरक्षा की भावना की वजह से वे हमपर दोष मढ़ रहे हैं। हम एक समुचित जांच चाहते हैं। हम चाहते हैं कि इस मामले की जांच सीआईडी करे।’ वहीं, पुलिस का कहना है कि त्रिलोचन का शव एक जंगल में मिला। पुरुलिया के एसपी जॉय बिसवास ने द इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा, ‘शरीर पर चोट के निशान नहीं है। उसकी पहनी हुई टीशर्ट पर एक संदेश लिखा था। मौके पर भी वही संदेश लिखी एक पर्ची मिली है। हम मामले की जांच कर रहे हैं।’ पुलिस से की गई शिकायत में त्रिलोचन के पिता हरिराम महतो ने छह लोगों पर आरोप लगाया है। हरिराम का कहना है कि इन लोगों का संबंध तृणमूल कांग्रेस से है। उन्होंने कहा कि त्रिलोचन को पहले भी मौत की धमकियां मिल रही थीं। पुलिस ने शिकायत के आधार पर मर्डर का केस दर्ज किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App