ताज़ा खबर
 

बंगाल: सैनिक, पुलिसकर्मी समेत पांच लोगों के पास मिला 15 किलो सोना, गिरफ्तार

आरोप है कि ये पांचों भूटान से तस्करी के माध्यम से 15 किलोग्राम सोना वाहन से लाने में संलिप्त थे। पुलिस ने 10 सितंबर को हाशिमारा क्षेत्र में उस वाहन को पकड़ा था।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल के अलीपुरद्वार जिले में भूटान से सोने की कथित तस्करी के सिलसिले में शनिवार (15 सितंबर, 2018) को सेना के एक खुफिया अधिकारी और एसडीपीओ समेत पांच लोग गिरफ्तार किए गए हैं। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार लोगों में हाशिमारा सैन्य शिविर के खुफिया अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल पवन ब्रह्मा और जयगांव के उपसंभागीय पुलिस अधिकारी अनुरुद्ध ठाकुर शामिल हैं। इसके अलावा अलीपुरद्वार में जयगांव के एसडीपीओ सतेंद्र नाथ रॉय, हासीमारा पुलिस चौकी के सब इंस्पेक्टर कमलेंद्र नारायण, इसी चौकी के पूर्व इंचार्ज को भी गिरफ्तार किया गया है।

आरोप है कि ये पांचों भूटान से तस्करी के माध्यम से 15 किलोग्राम सोना वाहन से लाने में संलिप्त थे। पुलिस ने 10 सितंबर को हाशिमारा क्षेत्र में उस वाहन को पकड़ा था। इस मामले में गिरफ्तार अन्य तीन आरोपी हाशिमारा और बारोवीसा थाना चौकियों के उपनिरीक्षक सत्येंद्र नाथ राय और कमलेंदु नारायण तथा सेना के खुफिया कांस्टेबेल दशरथ सिंह हैं। इन पांचों पर आईपीसी की संबंधित धाराएं लगाई गई हैं। सूत्रों ने बताया कि ये गिरफ्तारियां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा शुक्रवार को सीमावर्ती क्षेत्रों में तस्करी होने को लेकर नाखुशी प्रकट करने के बाद हुई हैं।

मामले में सीआईडी अधिकारी ने बताया कि दस सितंबर को आर्मी की इंटेलीजेंस यूनिट को खबर मिली कि सोने की एक बड़ी खेब भूटान से तस्करी होने वाली है। इसके हासीमारा में पुलिस चौकी के इंचार्ज को इसकी सूचना दी गई। इसके बाद में तोरशा ब्रिज पर एक चैक प्वाइंट बनाया गया है। आरोपी सेना और पुलिस कर्मियों ने एक कार को रोका, जिसका नंबर राजस्थान से रजिस्टर्ड था और कथित तौर पर सोने को जब्त कर लिया गया और तस्करों को कार में जाने की इजाजत दी गई। (एजेंसी इनपुट)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App