ताज़ा खबर
 

ममता बनर्जी ने की मिड डे मील को आधार से जोड़ने की आलोचना, टीएमसी संसद में उठाएगी मुद्दा

ममता बेनर्जी के अलावा केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन भी केंद्र सरकार के इस फैसला का विरोध कर सरकार से इसे वापस लेने की मांग कर रहे हैं।
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (फाइल फोटो)

केंद्र सरकार द्वारा स्कूलों में बच्चों को दिए जाने वाले मिड डे मील को आधार कार्ड से जोड़ने वाले मुद्दे पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बेनर्जी ने तीन ट्वीट कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। ममता बेनर्जी के अलावा केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन भी केंद्र सरकार के इस फैसला का विरोध कर सरकार से इसे वापस लेने की मांग कर रहे हैं। वहीं ममता बेनर्जी ने इस फैसले की आलोचना करते हुए कहा कि टीएमसी इस विषय को संसद में उठाएगी। कांग्रेस और लेफ्ट पार्टी भी इस मुद्दे पर ममता बेनर्जी का साथ दे रहे हैं।

ममता बेनर्जी ने अपने पहले ट्वीट में लिखा क्या अब नवजात शिशु को भी आधार कार्ड चाहिए? मिड डे मील, ICDS के लिए भी आधार चाहिए? अविश्वसनीय नरेगा को भी रिहाई नहीं मिली! इसके बाद ममता ने अपने दूसरे ट्वीट में कहा गरीबों को मदद करने के स्थान पर गरीब, पिछड़े हुए लोग और हमारे प्यारे बच्चों से उनका हक क्यों छीना जा रहा है? वहीं इसी के साथ तीसरा ट्वीट करते हुए ममता ने कहा आधार के नाम पर गोपनियता नष्ट की जा रही है। यह एक तरह की वसूली है। यह सरकार इतनी नकारात्मक क्यों है? पूरे देश में इसका विरोध होना चाहिए।

इस मुद्दे पर बात करते हुए केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने अपने एक बयान में कहा कि आधार पारदर्शिता और कुशलता लाने के लिए आधार की जरूरत होती है लेकिन स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के मिड डे मील को इससे क्यों जोड़ा जा रहा है। इसी के साथ विजयन ने कहा कि मिड डे मील का लाभ पाने वाले बच्चों में 10.3 करोड़ बच्चे शामिल हैं लेकिन इस योजना के लागू करने के बाद स्कूल जाने वाले बच्चों की संख्या पर इसका गहरा प्रभाव पड़ेगा। आपको बता दें कि सरकार की इस योजना का कई सामाजिक संगठन भी विरोध कर रहे हैं। इन संगठनों का कहना है कि जिस प्रकार मनरेगा और पीडीएस की योजनाओं में गरीबों को फायदा नहीं मिल रहा उसी प्रकार यहां भी बच्चे इस योजना के कारण मिड डे मील योजना से वंचित रह जाएंगे।

गौरतलब है कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा एक नोटिफेकेशन जारी किया गया है जिसमें बताया गया है कि सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावकों को अपने बच्चों का 30 जून तक आधार कार्ड बनवाना होगा क्योंकि अब जिसके पास आधार कार्ड होगा उसे ही मिड डे मील की सुविधा मिलेगी।

देखिए वीडियो - दिल्ली: सरकारी स्कूल में मिड डे मील में मिला मरा हुआ चूहा, बीमार पड़े 9 छात्र

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Shambhu kumar
    Mar 7, 2017 at 8:33 am
    ममता जी आधार आप भ्र्स्ताचारियों के नकेल कसने के लिए जोड़ना ी है ी काम में आपको इतनी मिर्ची क्यों लगती है
    (0)(0)
    Reply