ताज़ा खबर
 

TMC विधायक की हुई थी हत्या, भाजपा नेता मुकुल रॉय के खिलाफ FIR

तृणमूल कांग्रेस विधायक सत्यजीत बिस्वास की हत्या के मामले में भाजपा नेता मुकुल रॉय के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।

Author February 10, 2019 5:34 PM
भाजपा नेता मुकुल राय। (Express archive photo)

पश्चिम बंगाल के नदिया में तृणमूल कांग्रेस विधायक सत्यजीत बिस्वास की हत्या के मामले में भाजपा नेता मुकुल रॉय समेत चार लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। दरअसल, शनिवार (9 फरवरी) को अज्ञात हमलावरों ने टीएमसी विधायक सत्यजीत बिस्वास की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। वे नादिया जिले के कृष्णागंज से विधायक थे। जिस वक्त ममता बनर्जी के विधायक विश्वास की हत्या की गई, वे उस समय अपने क्षेत्र में आयोजित सरस्वती पूजा समारोह में शामिल होने गए हुए थे। सरस्वती पूजा के उपलक्ष्य में एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इसी कार्यक्रम में विश्वास जब मंच से उतर रहे थे, तभी हमलावरों ने उन्हें निशाना बनाते हुए गोली चला दी। पुलिस ने बताया कि विधायक बिस्वास को तुरंत स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

अधिकारी ने कहा, ‘‘इस मामले में हमनें अब तक दो लोगों को गिरफ्तार किया है जबकि तीन अन्य को हिरासत में लिया गया है। विधायक को गोली मारने के लिए इस्तेमाल हुई देसी रिवॉल्वर भी बरामद की गई है।’’  पुलिस ने इस हत्याकांड को लेकर जो प्राथमिकी दर्ज की है, उसमें भाजपा नेता मुकुल रॉय का भी नाम शामिल है। साथ ही हत्या के बाद हंसखली पुलिस स्टेशन के प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है।

पुलिस ने कहा, ‘‘हमारी शुरुआती जांच के मुताबिक, ऐसा लगता है कि पीड़ित को पीछे से गोली मारी गई और यह सोची समझी साजिश का हिस्सा था।’’ हमलावरों के इलाके से भाग जाने की आशंका के बारे में पूछे जाने पर पुलिस अधिकारी ने कहा कि प्रदेश पुलिस बेहद सतर्कता बरत रही है। उन्होंने कहा, ‘‘नादिया की सीमा बांग्लादेश से लगती है और इस बात की आशंका है कि वे (हमलावर) पड़ोसी देश भागने की कोशिश कर सकते हैं। सीमा पर आवाजाही पर नजर रखने के लिये पुलिस हाईअलर्ट पर है।’’

नादिया जिला बांग्लादेश की बॉर्डर से जुड़ा हुआ है। कुछ समय से भाजपा ने यहां अपनी राजनीतिक गतिविधियां बढ़ाई है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सत्यजीत बिस्वास उस मतुआ समुदाय से जुड़े हुए थे, जिसका वोटबैंक तृणमूल कांग्रेस और भाजपा दोनों की जीत के लिए महत्वपूर्ण है। नादिया जिले के तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष गौरीशंकर दत्ता ने हत्या का आरोप भाजपा और मुकुल रॉय के समर्थकों के उपर लगाया थी। हालांकि, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलिप घोष ने इस आरोप को बेबुनियाद और निराधार बताया है। उन्होंने इस हत्या के पीछे की वजह तृणमूल कांग्रेस की गुटबाजी बताई। लेकिन अब भाजपा नेता के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हो गई है।

यहां यह भी बता दें कि मुकुल रॉय टीएमसी के पूर्व सांसद हैं। फिलहाल वे भाजपा में शामिल हो चुके हैं। मनमोहन सिंह की सरकार में वह रेल मंत्रालय का कार्यभार संभाल चुके हैं। ममता बनर्जी ने जब रेल मंत्री पद से इस्तीफा दिया था तब मुकुल रॉय को यह पद सौंपा गया था। हालांकि, पिछले साथ कुछ बात को लेकर अनबन होने पर उन्होंने ममता बनर्जी का साथ छोड़ दिया था। शारदा चिटफंड मामले में भी उनका नाम आया था। तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी ने हमले को भाजपा की साजिश करार देते हुए शनिवार को कहा कि पूरी जांच के बाद हत्या में शामिल लोगों को सजा दी जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि भगवा दल लोकसभा चुनावों से पहले गड़बड़ी फैलाने की कोशिश कर रही है। हालांकि, रॉय और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने आरोपों को ‘‘निराधार’’ करार दिया था। (एजेंसी इनपुट के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App