ताज़ा खबर
 

यह है भारत की सबसे महंगी चाय, 19 हजार रुपये प्रति किलो का भाव और जोरदार डिमांड

इन चायपत्तियों को बहुत ही नाजुक तरीके से बीना जाता है।
Author दार्जलिंग | April 28, 2017 17:25 pm
दार्जिलिंग को भारत की चाय की राजधानी भी कहा जाता है।

अगर आप बहुत ही बेहतरीन और महंगी चाय पीने का शौक रखते हैं तो दार्जलिंग की मकईबारी चाय आपके लिए सबसे उत्तम है। यह मकईबारी चाय इतनी बेहतरीन है कि इसके पांच पैकट के लिए एक कंपनी ने बहुत ही अच्छा दाम दिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार ये पांच पैकेट्स प्रति किलोग्राम के है। इन्हें जापानी मकईबारी ने प्रति किलो 19,363 रुपए के दाम पर खरीदा है। बता दें कि मकईबारी जापान केवल मकईबारी टी एस्टेस से ही चायपत्तियां खरीदता है। यह चाय का बगान तकरीबन 155 साल पुराना है। मकईबारी चाय भारत में ही नहीं विदेशों में भी मशहूर है। भारत में मकईबारी सबसे महंगी चायों में प्रथम स्थान पर आती है।

इस चाय का इतना महंगा बिकने पर बात करते हुए मकईबारी टी एस्टेट के चेयरमैन राजा बनर्जी ने कहा कि इस खास चायपत्ति को दार्जलिंग में टी सीजन के शुरूआत में सबसे पहले बीना जाता है। इन चायपत्तियों को बहुत ही नाजुक तरीके से बीना जाता है। इस चायपत्ती का स्वाद लसदार और फलों के स्वाद वाला होता है। वहीं इस चाय को खरीदने वाले जापान मकईबारी कंपनी के एक अधिकारी ने बताया कि कंपनी किसी और चायपत्ती को इस्तेमाल नहीं करती है। हम हमेशा आशा करते है कि मकईबारी से हमें दुनिया की बेहतरीन चाय मिलेगी और जो कि हमेशा मिलती भी है।

आपको बता दें कि मकईबारी चाय का बगान दार्जलिंग के कुरसियोंग में स्थित है। दार्जलिंग को 2014 में मकईबारी चाय ने चाय की दुनिया में एक नया मुकाम दिया था। इस कंपनी की चाय लगभग 20 हजार रुपए प्रति किलो की दर से मिलना शुरू होती है। इससे पहले इस चाय को अपनी एक अन्य वरायटी के लिए 1.12 लाख रुपए दाम मिल चुका है। 2014 में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंग्लैंड दौरे पर गए थे, तब क्वीन एलीज़ाबैथ से मुलाकात के दौरान उन्होंने क्वीन को मकईबारी चाय तोहफे में दी थी। मकईबारी चाय को केवल जापान ही नहीं अमेरिका और ब्रिटेन जैसे कई अन्य देशों के लोग भी काफी पसंद करते है।

देखिए वीडियो - के बिजनेसमैन पारसमल लोढा हुए गिरफ्तार, 25 करोड़ रूपए के पुराने नोट बदलने का आरोप

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.