ताज़ा खबर
 

Krishna Janmashtami 2019: पश्चिम बंगाल में जन्माष्टमी के दौरान मंदिर की दीवार गिरी, 4 श्रद्धालुओं की मौत

Krishan Janmashtami 2019 in India: पश्चिम बंगाल के नॉर्थ 24 परगना स्थित एक मंदिर में जन्माष्टमी के दौरान एक दीवार ढह गई। इस हादसे में 4 श्रद्धालुओं की मौत हो गई है।

Author कोलकाता | Updated: August 23, 2019 1:15 PM
पश्चिम बंगाल के नॉर्थ 24 परगना में हुआ हादसा। प्रतीकात्मक तस्वीर।

Krishna Janmashtami 2019 in India: जन्माष्टमी के दौरान पश्चिम बंगाल के नॉर्थ 24 परगना में दर्दनाक हादसा हो गया है। बताया जा रहा है कि यहां एक मंदिर में जन्माष्टमी की तैयारियां चल रही थीं। उस दौरान एक दीवार ढह गई। इस हादसे में 4 श्रद्धालुओं की मौत हो गई। वहीं, 26 से ज्यादा घायल हो गए हैं। मामले की जानकारी मिलने के बाद सीएम ममता बनर्जी ने राहत कार्य तेजी से करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही, उन्होंने मुआवजे की भी घोषणा की है।

ऐसे हुआ हादसा: बताया जा रहा है कि नॉर्थ 24 परगना में कछुआ लोकनाथ मंदिर है। इसकी एक दीवार शुक्रवार सुबह ढह गई, जिससे भगदड़ जैसी स्थिति बन गई। इस हादसे में 4 लोगों की मौत हो गई। वहीं, 26 से ज्यादा घायल हुए हैं।

दीवार गिरने के बाद मची भगदड़: जानकारी के मुताबिक, मंदिर में दीवार गिरने के बाद भगदड़ मच गई। इससे हादसा बड़ा हो गया। बताया जा रहा है कि दीवार गिरने के बाद लोग एक-दूसरे को धक्का देते हुए इधर-उधर भागने लगे। ऐसे में कई लोग एक-दूसरे के पैरों के नीचे कुचल गए।

सीएम ममता ने की मुआवजे की घोषणा: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हादसे पर दुख जाहिर किया है। उन्होंने हादसे में मरने वालों के परिजनों को 5 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की है। वहीं, गंभीर रूप से घायलों को एक लाख रुपए व मामूली रूप से चोटिल हुए लोगों को 50-50 हजार रुपए देने का ऐलान किया है।

सीएम ने दी यह जानकारी: ममता बनर्जी ने बताया, ‘‘इस बार कछुआ लोकनाथ मंदिर में भारी भीड़ जमा हुई थी। तड़के सुबह बारिश होने लगी, जिसके कारण लोग बांस के अस्थायी स्टॉलों में छुपने की कोशिश करने लगे। भारी बारिश के कारण बांस के स्टॉल टूट गये। वहां जगह बहुत ही संकरी है और हड़बड़ी में कुछ लोग मंदिर के पास के तालाब में गिर गए। इससे वहां भगदड़ जैसी स्थिति पैदा हो गई।’’

घायलों से मिलने अस्पताल पहुंचीं ममता: हादसे के बाद ममता बनर्जी घायलों का हालचाल जानने अस्पताल पहुंचीं। उन्होंने कहा कि घटनास्थल पर राहत व बचाव कार्य जारी है। वरिष्ठ मंत्रियों को बारासात अस्पताल, आरजी कर चिकित्सा महाविद्यालय और बशीरहाट के एक अस्पताल में भेजा गया है। बनर्जी ने कहा, ‘‘राहत एवं बचाव अभियान अभी सबसे बड़ी प्राथमिकता है। मैं निजी स्तर पर स्थिति की निगरानी कर रही हूं।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 योगी सरकार ने मंत्रियों को बांटे विभाग, सुरेश खन्ना को फाइनेंस की अतिरिक्त जिम्मेदारी, हेल्थ संभालेंगे जय प्रताप
2 मोकामा विधायक अनंत सिंह ने जारी किया एक और वीडियो, कहा- पुलिस नहीं, कोर्ट के सामने करूंगा आत्मसमर्पण