scorecardresearch

WBBSE: पश्चिम बंगाल बोर्ड के पेपर में PoK पर विवादित सवाल पर बवाल, भाजपा बोली अलगाववादियों का समर्थन करती है TMC

West Bengal: केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने राज्य सरकार से मामले की जांच करने को कहा। जिसके बाद राज्य के शिक्षा मंत्री ने कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया।

WBBSE: पश्चिम बंगाल बोर्ड के पेपर में PoK पर विवादित सवाल पर बवाल, भाजपा बोली अलगाववादियों का समर्थन करती है TMC
पश्चिम बंगाल बोर्ड (Source- representational image/ Express)

West Bengal News: पश्चिम बंगाल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (WBBSE) के 2022-2023 सत्र के लिए कक्षा -10 के बोर्ड एग्जाम के एक पेपर में छात्रों से भारत के मानचित्र (Map) पर ‘आजाद कश्मीर’ की पहचान करने के लिए कहा गया है। इस सवाल पर बवाल मचने के बाद केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने राज्य सरकार से मामले की जांच करने को कहा है। वहीं, दूसरी ओर भाजपा ने राज्य में तृणमूल कांग्रेस सरकार पर अलगाववादी समर्थक होने का आरोप लगाया।

WBBSE में PoK पर विवादित सवाल

पश्चिम बंगाल में बोर्ड परीक्षा के लिए जारी मॉडल प्रश्न पत्र में शामिल एक प्रश्न को लेकर सियासी घमासान शुरू हो गया है। दरअसल, टेस्ट पेपर में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) को आजाद कश्मीर के रूप में संदर्भित किया गया है। सोशल मीडिया पर इतिहास की परीक्षा के पेपर के पेज 132 का स्क्रीनशॉट वायरल हो रहा है। सवाल में कश्मीर को आजाद कश्मीर कह कर संबोधित किया गया है। इसे लेकर राज्य की राजनीति गरमा गई है।

Dr Subhas Sarkar ने की तुरंत जांच की मांग

राज्य के मुख्य विपक्षी दल भाजपा ने इसे लेकर राज्य सरकार और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर अलगाववादी एजेंडा चलाने का आरोप लगाया है। वहीं, मामला केंद्र सरकार तक भी पहुंच गया है। केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री डॉ सुभाष सरकार ने इस मामले की त्वरित जांच की मांग की है। पश्चिम बंगाल के कक्षा 10वीं के पेपर में आज़ाद कश्मीर के उल्लेख पर केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष सरकार ने कहा, “पेपर बनाने वाले राष्ट्र विरोधी हैं। वो आतंक को बढ़ावा दे रहे हैं। राज्य सरकार के शिक्षा मंत्री को उन्हें पत्र लिखना चाहिए, ये टेस्ट पेपर सेल बंद होना चाहिए।”

BJP ने TMC पर लगाया अलगाववादियों का समर्थन करने का आरोप

वहीं, भाजपा ने टीएमसी पर अलगाववादियों का समर्थन करने का आरोप लगाया है। बीजेपी सांसद और पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने सोशल मीडिया पर लिखा, “ममता सरकार अलगाववादियों की समर्थक है। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर को आज़ाद कश्मीर के रूप में पहचाने जाने के लिए कहा गया है। यह राज्य सरकार न केवल उग्रवादियों का समर्थन कर रही है, बल्कि युवा छात्रों में भारत विरोधी मानसिकता पैदा करने की भी कोशिश कर रही है।”

दरअसल, WBBSE हर साल बोर्ड एग्जाम से पहले टेस्ट पेपर का संकलन जारी करता है। टेस्ट पेपर में आमतौर पर बोर्ड से संबद्ध विभिन्न स्कूलों द्वारा तैयार किए गए कक्षा 10 के प्री-बोर्ड प्रश्न होते हैं। ऐसे में वायरल हो रहा टेस्ट पेपर का पेज 132 रामकृष्ण मिशन विवेकानंद विद्यामंदिर, मालदा का है।

West Bengal के शिक्षा मंत्री ने दिया दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन

वहीं, पश्चिम बंगाल के शिक्षा मंत्री ब्रत्य बसु ने आश्वासन दिया कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। WBBSE के अध्यक्ष रामानुज गंगोपाध्याय ने कहा, “जब से यह मामला हमारे संज्ञान में आया है, हम इसे ठीक करने और यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि क्या हुआ। हम उन लोगों से बात करेंगे जिन्होंने प्रश्न तैयार किया था और जिन्होंने पेपर संपादित किया था। उसके बाद कार्रवाई की जाएगी।”

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 18-01-2023 at 08:33:46 am
अपडेट