पश्चिम बंगाल चुनाव: रविशंकर प्रसाद बोले- भ्रष्टाचार की संरक्षक बन गई हैं ममता बनर्जी - Jansatta
ताज़ा खबर
 

पश्चिम बंगाल चुनाव: रविशंकर प्रसाद बोले- भ्रष्टाचार की संरक्षक बन गई हैं ममता बनर्जी

रविशंकर प्रसाद ने कहा, ‘‘नारदा स्टिंग वीडियो काफी पहले सार्वजनिक हो गया था और बनर्जी के पास काफी समय था। मदन मित्रा जेल में हैं तब उन्हें टिकट क्यों मिला।’’

Author कोलकाता | April 19, 2016 7:07 PM
केन्द्रीय सूचना एवं प्रौद्योगिकी आईटी तथा संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद (फाइल फोटो)

केन्द्रीय सूचना एवं प्रौद्योगिकी आईटी तथा संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर तृणमूल कांग्रेस पर हमला बोलते हुए पार्टी प्रमुख ममता बनर्जी पर ‘भ्रष्टाचार को संरक्षण’ देने का मंगलवार (19 अप्रैल) को आरोप लगाया। प्रसाद ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘ममता बनर्जी सिंगूर, नंदीग्राम में अपने आंदोलन के बाद निष्ठा और ईमानदारी की एक प्रतिमा बनकर उभरी थीं। वह ईमानदारी की प्रतीक बन गई थीं। लेकिन यह दुख की बात है पांच साल तक बंगाल की सत्ता संभालने के बाद वह ईमानदारी की प्रतिमा से भ्रष्टाचार की संरक्षक बन गई हैं। इस दौरान राज्य में सारदा से लेकर नारदा घोटाले तथा भ्रष्टाचार के मामले सामने आये।’’

प्रसाद ने बनर्जी के उस दावे को भी खारिज किया जिसमें मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि नारदा स्टिंग ऑपरेशन के टेप ‘पूर्व में प्रसारित’ किए गए होते तो उन्हें विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी के उम्मीदवार चुनने से पहले ‘सोचने का समय’ मिलता। प्रसाद ने कहा, ‘‘नारदा स्टिंग वीडियो काफी पहले सार्वजनिक हो गया था और बनर्जी के पास काफी समय था। मदन मित्रा जेल में हैं तब उन्हें टिकट क्यों मिला।’’

बनर्जी ने कहा था कि वह इस स्टिंग की आंतरिक जांच की रिपोर्ट आने का इंतजार कर रही हैं और यदि पार्टी में कोई दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। बनर्जी को चुनाव आयोग की ओर से जारी कारण बताओ नोटिस पर मुख्य सचिव द्वारा जवाब दिए जाने के मुद्दे पर प्रसाद ने कहा कि यह किसी भी तरह स्वीकार्य नहीं है।

बनर्जी ने सोमवार (18 अप्रैल) को कहा था, ‘‘मुख्यमंत्री के तौर पर मुझसे जवाब मांगा गया था। जवाब मैं देती हूं या मुख्य सचिव देते हैं यह कोई मुद्दा नहीं है। यदि उन्होंने मुझसे तृणमूल कांग्रेस के तौर पर जवाब मांगा होता तो मैं पार्टी की ओर से जवाब देती।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App