ताज़ा खबर
 

West Bengal Panchayat Election 2018: वोटरों को बूथ पर जाने से रोक रहे हथियारबंद तृणमूल कार्यकर्ता! देखें VIDEO

West Bengal Panchayat Election 2018: पश्चिम बंगाल में सोमवार (14 मई) को पंचायत चुनाव के लिए सुबह साढ़े छह बजे से मतदान शुरू हुआ था। 20 जिलों में हुए इन चुनावों में मतों कि गिनती 17 मई को होगी। बंगाल पंचायत चुनाव में इस बार सत्तारूढ़ टीएमसी और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच कांटे की टक्कर है।

पोलिंग बूथ से कुछ दूरी पर मतदान करने पहुंचे लोगों को रोक लिया जा रहा था। (फोटोः ANI)

पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव के दौरान वोटिंग को रोकने के प्रयास से जुड़ा मामला सामने आया है। कथित तौर पर तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के कार्यकर्ताओं पर आरोप लगा है कि उन्होंने पोलिंग बूथ पर मतदाताओं को जाने से रोका। टीएमसी कार्यकर्ता इस दौरान हथियार लिए हुए थे, जिनके बलबूते वे मतदाओं को डरकर लौटने को कह रहे थे। घटना के दौरान कुछ लोगों ने मामले की वीडियो रिकॉर्डिंग कर ली थी, जो न्यूज एजेंसियों और सोशल मीडिया के जरिए सामने आई है।

पोलिंग बूथ पर मतदान रोकने के दो जगहों पर मामले सामने आए हैं। पहला- बीरपारा में। यहां बूथ संख्या 14/79 पर टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने मतदान करने पहुंचे लोगों को बूथ तक पहुंचने से रोका। वीडियो क्लिप के अनुसार, लोग जब बूथ के पास पहुंचे तो उन्हें हथियारबंद टीएमसी कार्यकर्ताओं ने घेर लिया। वे लोगों ने वापस लौट जाने के लिए कह रहे थे।

उधर, जलपाईगुड़ी में भी एक पोलिंग बूथ पर टीएमसी कार्यकर्ताओं ने मतदाताओं को वोटिंग करने से रोका। वे इस दौरान डंडे और तलवारें लिए हुए थे। ऐसे में बूथों पर इस तरह से मतदान रोके जाने की घटना चुनाव को लेकर किए गए सुरक्षा इंतजामात पर सवालिया निशान लगाती है।

वहीं, भानगढ़ में भी मीडिया के एक वाहन में आग लगाए जाने और पत्रकार का कैमरा तोड़ने की खबर भी आई है। स्थानीय लोगों ने यहां की सड़क को जाम कर दिया था। लोगों ने दावा किया था कि टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने बूथ पर कब्जा कर लिया था।

आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल में सोमवार (14 मई) को पंचायत चुनाव के लिए सुबह साढ़े छह बजे से मतदान शुरू हुआ था। 20 जिलों में हुए इन चुनावों में मतों कि गिनती 17 मई को होगी। बंगाल पंचायत चुनाव में इस बार सत्तारूढ़ टीएमसी और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच कांटे की टक्कर नजर आ रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App