ताज़ा खबर
 

‘ममता राज’ में निर्भया जैसा कांड, रेप के बाद प्राइवेट पार्ट में रॉड डाला

महिला के साथ घिनौनी और अमानवीय करतूत को अंजाम देने वाला आरोपी उसका रिश्तेदार ही है। पुलिस ने आरोपी और उसके साथ एक और शख्स को दबोचा है और दोनों से पूछताछ की जा रही है। वहीं, पीड़िता को अस्पताल में भर्ती कराया है और उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है।

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी जिले में एक महिला के साथ कथित तौर पर बलात्कार किया गया और उसके निजी अंगों में रॉड डाल दी गई। महिला की साथ हुई वारदात को 2012 के दिल्ली के निर्भया कांड की तरह जोड़कर देखा जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स मुताबिक महिला के साथ घिनौनी और अमानवीय करतूत को अंजाम देने वाला आरोपी उसका रिश्तेदार ही है। पुलिस ने आरोपी और उसके साथ एक और शख्स को दबोचा है और दोनों से पूछताछ की जा रही है। वहीं, पीड़िता को अस्पताल में भर्ती कराया है और उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है। समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक पुलिस को दिए बयान में पीड़िता ने कहा है कि धूपगुड़ी पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले एक तलाब के पास उसके साथ शनिवार (20 अक्टूबर) की रात उसके एक रिश्तेदार ने बलात्कार किया। पीड़िता ने बताया कि आरोपी ने जमीन विवाद सुलझाने का झांसा देकर उसे घर से बाहर बुलाया और फिर उसके साथ बलात्कार किया।

पीड़िता ने बताया कि आरोपी ने उसके निजी अंगों में लोहे की रॉड डाल कर यातना दी। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि आरोपी के साथ एक और शख्स मौजूद था लेकिन उसने रेप नहीं किया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस ने बताया कि एक रिक्शा चालक ने पीड़िता को देखा और घर पहुंचाया। रविवार (21 अक्टूबर) की सुबह पीड़िता को धूपगुड़ी अस्पताल ले जाया गया जहां से उसे जलपाईगुड़ी सदर अस्पताल भेजा गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक वारदात के वक्त पीड़िता का पति घर पर नहीं था।

बता दें कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कई दफा राज्य में महिलाओं के महफूज होने की दावे करती रही हैं लेकिन रेप जैसे मामले थम नहीं रहे हैं। महिलाओं के खिलाफ अपराध को लेकर ममता सरकार अक्सर विरोधियों के निशाने पर रहती है। इस मामले को लेकर उम्मीद की जा रही है दोषियों को कड़ी सजा देकर पीड़िता के साथ न्याय किया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App