ताज़ा खबर
 

बंगाल: कक्षा 5 की बच्‍ची का किया यौन शोषण, चुप रहने के लिए दिए 100 रुपये

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में पुलिस ने रविवार (6 मई) को 5वीं की छात्रा के साथ यौन उत्पीड़न करने के आरोपी को दबोचा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आरोपी ने कथित तौर पर बच्ची के साथ यौन उत्पीड़न किया और फिर 100 रुपये देकर उसे चुप रहने के लिए कहा।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में पुलिस ने रविवार (6 मई) को 5वीं की छात्रा के साथ यौन उत्पीड़न करने के आरोपी को दबोचा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आरोपी ने कथित तौर पर बच्ची के साथ यौन उत्पीड़न किया और फिर 100 रुपये देकर उसे चुप रहने के लिए कहा। कोलकाता से करीब 9 किलोमीटर की दूरी पर अशोक नगर पुलिस थाने के अधिकारी ने मीडिया को बताया कि मामले में रफीकुल इस्लाम नाम के शख्स को गिरफ्तार किया गया। पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी ने 5वीं की छात्रा को रविवार की शाम अपने घर बुलाया था और उसके साथ कथित तौर यौन उत्पीड़न किया। पुलिस ने बताया कि आरोपी ने कथित तौर पर 100 रुपये देकर बच्ची की खामोशी खरीदी। पुलिस के मुताबिक आरोपी के खिलाफ पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर उसे मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। बता दें कि फरवरी में कोलकाता के एक कॉन्वेंट स्कूल के डांस टीचर पर कक्षा 2 की बच्ची पर यौन हमला करने का आरोप लगा था। तब गुस्साए परिजनों ने स्कूल के बाहर घंटों प्रदर्शन किया था।

परिजनों ने स्कूल प्रबंधन पर भी आरोपी शिक्षक के खिलाफ कार्रवाई न करने का आरोप लगाया था। दक्षिण कोलकाता में हुए विरोध प्रदर्शन के दौरान एक पुलिस अधिकारी के घायल होने खबर सामने आई थी। बाद में 28 वर्षीय आरोपी शिक्षक को बच्चों के खिलाफ यौन अपराधों पर बनाए गए ठोस कानून के तहत गिरफ्तार किया गया था।

राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी इस घटना की निंदा की थी और कहा था कि ”सभी शिक्षक बुरे नहीं हैं। लेकिन कुछ बुरे लोग है। हमें उनके खिलाफ कार्रवाई करनी होगी। यह बहुत बुरी घटना है।” बता दें कि हाल ही में सरकार ने 12 साल तक की बच्ची के साथ रेप करने के आरोपी के लिए मौत की सजा मुकर्रर की है, लेकिन इस कानून सुधार के बाद भी यौन हमलों की वारदातों में कमी नहीं देखी जा रही है। पिछले दिनों देश में रेप के मामलों को लेकर भारी उबाल देखा गया और नेता से लेकर अभिनेता तक घिनौने कृत्यों के खिलाफ आवाज उठाते हुए देखे गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App