ताज़ा खबर
 

West Bengal की 4 Universities में 2 साल बाद होंगे छात्र संघ चुनाव, इनमें जाधवपुर भी शामिल, यहां बाबुल सुप्रियो से हुई थी मारपीट

पश्चिम बंगाल सरकार ने चार विश्वविद्यालयों में छात्र संघ चुनाव कराने की अनुमति दे दी है। सरकार के इस फैसले से टीएमसीपी में खुशी की लहर है।

Author कोलकाता | Published on: October 18, 2019 2:39 PM
पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल के चार विश्वविद्यालयों में दो साल से अधिक समय से छात्र संघ चुनावों पर लगी रोक के बाद, पश्चिम बंगाल सरकार ने इन विश्वविद्यालयों में उपयुक्त समय पर चुनाव कराने की अनुमति दे दी है। बता दें कि इस संबंध में उच्च शिक्षा विभाग के सहायक सचिव ने गुरुवार (17 अक्टूबर) को चार विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को पत्र भेजकर अनुमति दी है। इन विश्वविद्यालयों में यादवपुर विश्वविद्यालय, प्रेसीडेंसी विश्वविद्यालय, रवीन्द्र भारती विश्वविद्यालय और डायमंड हार्बर महिला विश्वविद्यालय शामिल हैं। राज्य सरकार के इस फैसले से टीएमसी में काफी खुशी है। बता दें कि इससे पहले भी छात्र संघ चुनाव को लेकर भी प्रदर्शन हो चुके हैं।

क्या कहा गया पत्र मेंः उच्च शिक्षा विभाग के सहायक सचिव द्वारा लिखे गए पत्र में कहा गया है, ‘आपकी तरफ से मिली जानकारी और विभिन्न हितधारकों के साथ परामर्श के संदर्भ में, मुझे आपको यह सूचित करने का निर्देश मिला है कि आप उपयुक्त महसूस होने पर छात्र संघ/छात्र परिषद के चुनाव करा सकते हैं।’

National Hindi News 18 October 2019 LIVE Updates: दिन भर की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

शिक्षा मंत्री ने अधिसूचना जारी कीः मामले में शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने संवाददाताओं से बात करते हुए कहा, ‘हमने इन विश्वविद्यालयों के छात्रसंघ चुनाव कराने के लिए एक अधिसूचना जारी की है। मतदान का कार्यक्रम संबंधित विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा तय किया जाएगा।’ बता दें कि पार्टी ने इस फैलसे का स्वागत किया है।

टीएमसीपी ने किया स्वागतः तृणमूल कांग्रेस छात्र परिषद (टीएमसीपी) ने पश्चिम बंगाल सरकार के इस कदम का स्वागत किया है। इन विश्वविद्यालयों में जल्द ही चुनाव होने की उम्मीद हैं। वहीं छात्र परिषद द्वारा मिली जुली प्रतिक्रिया देखने को मिली। बता दें कि यादवपुर विश्वविद्यालय के छात्रों ने 2017 और 2018 में छात्र संघ चुनाव कराने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन भी किया गया था। इसके साथ छात्रों ने घेराव भी किया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories