ताज़ा खबर
 

West Bengal: पूर्व CM बुद्धदेब भट्टाचार्य की हालत गंभीर, सांस लेने में दिक्कत से अस्पताल में भर्ती

भट्टाचार्य कुछ समय से क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पुलमोनरी डिजीज (सीओपीडी) से पीड़ित हैं। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने भी शुक्रवार देर रात को उनको देखने के लिए अस्पताल पहुंचे थे।

Author कोलकाता | Published on: September 7, 2019 3:11 PM
kolkataपश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेब भट्टाचार्य (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेब भट्टाचार्य को सांस लेने में शिकायत के बाद शुक्रवार (06 सितंबर) की रात में उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है। कोलकाता के वुडलैंड अस्पताल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि 75 वर्षीय माकपा नेता का रक्तचाप काफी कम था। इस बीच उन्हें देखने के लिए नेताओं के साथ उनके रिश्तेदारों का भी तांता लगने लगा। बता दें कि उनको देखने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्यपाल जगदीप धनखड़ भी पहुंचे थे। राज्यपाल ने बुद्धदेब से मिलने के बाद मीडिया को कहा कि वे उनके पुत्र के हैसियत से उनसे मिलने आए हैं। बता दें कि बुद्धदेब का माकपा के बड़े नेताओं में गिनती होती है।

सीएम ममता बनर्जी भी देखने पहुंची अस्पतालः अधिकारी ने भाषा को बताया, ‘भट्टाचार्य को हमारे अस्पताल में रात के आठ बजे के बाद लाया गया। उनकी स्थिति काफी गंभीर प्रतीत हो रही है। हम उनका ईलाज आईटीयू में कर रहे हैं।’ उन्होंने बताया, ‘उन्हें सांस लेने में दोपहर से शिकायत हुई और उनका रक्तचाप चिंताजनक स्थिति तक गिर गया। हम जरूरी जांच कर रहे हैं।’ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पूर्व मुख्यमंत्री से अस्पताल में मुलाकात की हैं। डॉक्टरों से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी भी ली है।

National Hindi Khabar, 7 September 2019 LIVE News Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

Mumbai Rains, Weather Forecast Today Live Updates: मुंबई के मौसम का हाल जानने के लिए यहां क्लिक करें

इसी साल फरवरी में महारैली हुए थे शामिलः बता दें कि भट्टाचार्य कुछ समय से क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पुलमोनरी डिजीज (सीओपीडी) से पीड़ित हैं। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने भी शुक्रवार देर रात को उनको देखने के लिए अस्पताल पहुंचे थे। राज्यपाल ने कहा कि भट्टाचार्य ने उन्हें देखने के लिए धन्यवाद कहा। बता दें कि वह 2000 से 2011 तक पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री रहे हैं। वे 2018 में अपने बिगड़ते स्वास्थ्य की वजह से माकपा के पोलितब्यूरो, केंद्रीय समिति और राज्य सचिवालय से 2018 में हट गए। उन्हें अंतिम बार सार्वजिक रूप से तीन फरवरी को एक महारैली में ब्रिगेड परेड मैदान में दिखाई दिए थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 झारखंड में चुनाव लड़ने के लिए JDU ने की ‘ट्रैक्टर पर बैठे किसान’ सिंबल की मांग, JMM की शिकायत के बाद EC जब्त किया था ‘तीर’ का निशान
2 उपराष्ट्रपति नायडू बोले- अगर हमला हुआ तो ऐसा जवाब देंगे कि पाकिस्तान भूल नही पाएगा
3 Chandrayaan-2: छात्र ने पूछा राष्ट्रपति कैसे बनूं? मोदी का सवाल- पीएम क्यों नहीं, देखें VIDEO