ताज़ा खबर
 

बंगाल चुनावः न देखना चाहते PM मोदी का चेहरा, न चाहिए दंगाई, लुटेरे और दुर्योधन- बोलीं CM ममता

ममता ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए कहा "भाजपा को फेयरवेल देने का वक़्त है, हम हम भाजपा नहीं चाहते हैं, इसलिए हम भाजपा को बंगाल से अलविदा कह देंगे। हम मोदी का चेहरा नहीं देखना चाहते हैं। हम दंगाई, लुटेरे, दुर्योधन, दुशासन और मीर जाफर भी चाहते हैं।"

mamata banerjeee, trinamool congress, bjp, nandigram, singoor, bengal, elections 2021, first vote, castes 82 year, old women, jhargram, west bengal election, election in west bengal,West Bengal elections: ममता बनर्जी ने भाजपा को दंगाई, लुटेरे और दुर्योधन बताया। (source: ANI)

विधानसभा चुनाव के चलते सियासत पश्चिम बंगाल में गरमाई हुई है। यह चुनाव तृणमूल कांग्रेस (TMC) बनाम भारतीय जनता पार्टी (BJP) नहीं बल्कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी बनाम ममता बनर्जी हो गया है। शुक्रवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने पूर्वी मिदिनापुर में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए भाजपा को दंगाई, लुटेरे और दुर्योधन बताया।

ममता ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए कहा “भाजपा को फेयरवेल देने का वक़्त है, हम हम भाजपा नहीं चाहते हैं, इसलिए हम भाजपा को बंगाल से अलविदा कह देंगे। हम मोदी का चेहरा नहीं देखना चाहते हैं। हम दंगाई, लुटेरे, दुर्योधन, दुशासन और मीर जाफर भी नहीं चाहते हैं।” ममता बनर्जी ने कहा कि भाजपा ने टीएमसी से बगावत करने वालों को विधानसभा चुनाव में टिकट दिए। पार्टी के पुराने नेता घर में बैठकर आंसू बहा रहे हैं।

इस दौरान दीदी ने अपनी चोट का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि पहले मेरे विरोधियों ने मेरे सिर में चोट मारी और अब मेरा पैर घायल कर दिया, लेकिन मैं भी योद्धा हूं। इसी बीच तृणमूल कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज चुनाव आयोग से मुलाकात की है। टीएमसी ने मांग की है कि ममता बनर्जी पर हमले वाले मामले में पुख्ता रिपोर्ट जारी की जाए।

पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा, टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा और सौगत रॉय की अगुवाई में प्रतिनिधिमंडल ने चुनाव आयोग से मुलाक़ात की। मुलाकात के बाद महुआ मोइत्रा ने बताया कि पोलिंग बूथ के 100 मीटर के अंदर केंद्रीय फोर्स की तैनाती पर फिर से विचार होना चाहिए। इसके अलावा चुनाव आयोग को ममता बनर्जी पर हुए हमले के मामले में विस्तृत रिपोर्ट देनी चाहिए, क्योंकि अभी जो रिपोर्ट आई है वो पूरी नहीं है।

यशवंत सिन्हा कहा कि हमने बंगाल की हकीकत के बारे में चुनाव आयोग को अवगत कराया है। टीएमसी पोलिंग बूथ के आस-पास केंद्रीय फोर्स की तैनाती नहीं चाहती है। सिन्हा ने कहा “चुनाव आयोग से अपील है कि वो बंगाल की जनता को समझे। वहां अधिकतर लोग बंगाली बोलते हैं, ऐसे में ऐसी फोर्स को तैनात किया जाए जो लोगों को समझ सके।”

पश्चिम बंगाल में कुल आठ चरणों में चुनाव संपन्न होंगे। पहले चरण में 30 सीटों पर 27 मार्च को वोट डाले जाएंगे। वहीं, दूसरे चरण में 30 सीटों पर एक अप्रैल को, तीसरे चरण में 31 सीटों पर 6 अप्रैल को, चौथे चरण में 44 सीटों पर 10 अप्रैल को, पांचवें चरण में 45 सीटों पर 17 अप्रैल को, छठे चरण में 43 सीटों पर 22 अप्रैल को, सातवें चरण में 36 सीटों पर 26 अप्रैल को और आठवें और अंतिम चरण में 35 सीटों पर 29 अप्रैल को वोटिंग होगी। पांच राज्यों में एक साथ 2 मई को नतीजे घोषित किए जाएंगें।

Next Stories
1 बंगालः TMC ने 4 सीट पर बदले उम्मीदवार; शुभेंदु का वार- चुनाव में ‘पाकिस्तानियों व घुसपैठियों’ का प्रयोग कर रहीं CM
2 COVID-19: मास्क पर मीडिया को ज्ञान दे रहे थे MP के मंत्री, पर खुद लटका रखा था गर्दन के पास; समर्थक के चेहरे भी खुले मिले
3 योगी सरकार के चार साल: सीएम ने गिनाई उपलब्धियां, बोले- अपराध की घटनाओं में आई कमी, नहीं हुआ कोई दंगा, दुनियाभर से निवेशक आना चाहते हैं UP
यह पढ़ा क्या?
X